समालखा (पानीपत), जागरण संवाददाता। यूजी (अंडर ग्रेजुएट) में दाखिले को लेकर प्रक्रिया जारी है। डीएचई की ओर से शुक्रवार को दूसरी मेरिट सूची भी जारी कर दी गई। सूची में स्थान पाने वाले विद्यार्थी अब 20 से 23 अगस्त तक फीस जमा करा सकेंगे। फिलहाल नए आवेदन बंद कर दिए गए हैं। बची हुई सीटों पर ओपन काउंसलिंग को लेकर आनलाइन एडमिशन पोर्टल को 26 अगस्त फिर से खोला जाएगा।

एडमिशन पोर्टल पर आवेदन आंकड़ों की बात करें तो प्रदेश भर से 1 लाख 50 हजार 292 विद्यार्थियों ने एडमिशन को लेकर आवेदन किया है। इनमें से 1 लाख 32 हजार 928 के आवेदन कम्पलीट हो चुके हैं। जबकि 65 हजार 321 विद्यार्थी एडमिशन भी पा चुके हैं। आवेदन करने वालों में बेटों के मुकाबले बेटियां अव्वल हैं। एडमिशन को लेकर आनलाइन आवेदन करने वाले प्रदेश के विद्यार्थियों की संख्या 1लाख 33 हजार 193 है। जबकि दूसरे प्रदेशों के आवेदन करने वाले विद्यार्थियों की संख्या 5653 है।

कला संकाय विद्यार्थियों की पहली पसंद

एडमिशन पोर्टल हुए आवेदन के मुताबिक यूजी में एडमिशन को लेकर सबसे ज्यादा विद्यार्थियों में कला संकाय (बीए) के प्रति रूझान दिख रहा है। इसके बाद कामर्स (बीकाम), नान मेडिकल, बीसीए, बीएससी, बीबीए, बीकाम (आनर्स), कला संकाय (बीए-आनर्स) अंग्रेजी, बीएससी (आनर्स) गणित, कला संकाय (बीए-आनर्स) जियोग्राफी में एडमिशन को लेकर आवेदन हुए हैं।

राजकीय कालेज हिसार में सबसे ज्यादा आवेदन

यूजी की एडमिशन प्रक्रिया में प्रदेश भर से 329 राजकीय व निजी कालेज भाग ले रहे हैं। इनमें एडमिशन को लेकर आवेदन की बात करें तो विद्यार्थी राजकीय कालेजों पर ही ज्यादा भरोसा जता रहे हैं। यहीं कारण है कि टाप-10 में सात राजकीय कालेजों में ज्यादा आवेदन आए हैं। सबसे ज्यादा आवेदन राजकीय कालेज हिसार में 21290, एनआरएस राजकीय कालेज रोहतक में 18592, राजकीय कालेज फरीदाबाद में 13560, डी राजकीय कालेज गुरुग्राम में 13068, दयानंद कालेज हिसार में 12933, राजकीय कालेज भिवानी में 11869, राजकीय कालेज सेक्टर-9 गुरुग्राम में 11039, राजकीय कालेज जींद में 8883, एएल जाट एचएम कालेज रोहतक में 8823 व छजू राम मेमोरियल जाट कालेज हिसार में 8342 विद्यार्थियों ने एडमिशन को लेकर आवेदन किया है।

बेटियां अव्वल, बेटे पीछे

उच्चतर शिक्षा को लेकर आवेदन करने वालों में पिछले सत्र की तरह इस बार भी बेटियां अव्वल हैं। पोर्टल पर दर्ज आंकड़ों के मुताबिक आवेदन करने वालों में 1 लाख 50 हजार 292 विद्यार्थियों में से 51.16 प्रतिशत बेटियां (छात्रा) व 48.83 प्रतिशत बेटे (छात्र) हैं। जो दर्शाता है की बेटों के मुकाबले बेटियां उच्चतर शिक्षा तक ज्यादा पहुंचती हैं।

किस आरक्षित श्रेणी से कितने आवेदन

आरक्षित श्रेणी -------------------आवेदन

सामान्य --------------------------59435

पिछड़े वर्ग --------------------------41854

अनुसूचित जाति--------------------33257

ईडब्लूएस---------------------------3725

भूतपूर्व सैनिक और उनके बच्चे------249

आल इंडिया ईडब्लूएस---------------170

अलग रूप से सक्षम------------------152

स्वतंत्रता सेनानी के आश्रित----------14

Edited By: Anurag Shukla