जागरण संवाददाता, पानीपत : साइबर ठग लोगों को ठगने के लिए अलग-अलग तरीके अपना रहे हैं। कोई दोस्त व रिश्तेदार बनकर खाते में रुपये डलवाने का झांसा देकर ठग रहा है तो कोई डेबिट कार्ड का क्लोन बनाकर ठगी कर रहा है। ठग बैंक कर्मचारी बताकर क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने का सब्जबाज दिखाकर भी ठगी कर रहे हैं। ठगों ने एक महिला व दो लोगों के खातों से दो लाख नौ हजार 198 रुपये निकाल लिए। एसपी शशांक कुमार सावन कई बार पुलिस एडवाइजरी जारी कर आगाह कर चुके हैं कि किसी अनजान व्यक्ति को बैंक खाते से संबंधित जानकारी न दें। इसके बावजूद लोग जानकार दे देते हैं और ठगी का शिकार हो जाते हैं।

केस : एक -दोस्त बताकर खाते से 75 हजार रुपये निकाले

विकास नगर के राजेश कुमार ने पुलिस को शिकायत दी कि उसके फोन पर ठग ने काल कहा कि आपका दोस्त बोल रहा हूं। कहीं से उसके 24 हजार रुपये आने हैं। खाता बंद है। इसलिए आपके खाते में रुपये डलवा रहा हूं। ठग ने उसे फोन पे पर दो रुपये भेजे और बातों में उलझाकर दो बार में 75 हजार रुपये निकाल लिए। उसके साथ ठगी कर ली गई। सेक्टर-29 थाना पुलिस ने मामला दर्ज करके ठग की तलाश शुरू कर दी है।

केस : दो - खाता हैक करके कामगार के खाते से 72198 रुपये निकले

राजनगर में किराये पर रहने वाले रजनीश ने पुलिस को शिकायत दी कि उसका जीटी रोड स्थित एचडीएफसी बैंक में खाता है। उसके खाते से 72198 रुपये निकल लिए गए। ठग ने खाता हैक करके रुपये निकाले हैं। थाना शहर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस बैंक से खाते की जानकारी लेकर ठग की तलाश कर रही है।

केस : तीन - महिला के खाते से 62 हजार रुपये निकाले

हनुमान कालोनी की रजनी ने पुलिस को शिकायत दी कि उसका उज्जीवन स्माल फाइनंस बैक में खाता है। उसके खाते से 62 हजार रुपये निकाल लिए गए। जबकि उसने किसी को डेबिट कार्ड का पिन नंबर नहीं बताया और न ही किसी को ओटीपी नंबर बताया था। इसके बावजूद खाते से रुपये निकल गए। बैंक कम अधिकारी ने बताया कि खाते से रुपये डेबिट कार्ड से निकाले गए हैं। थाना शहर पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

Edited By: Jagran