पानीपत, जागरण संवाददाता। समालखा के गुड़मंडी के गाजर-पाक बर्फी मिठाई के कारोबारी से रंगदारी मांगने वाला मोबाइल नंबर एक मजदूर के नाम है, जो कई माह पहले गुम हो गया था। पुलिस जांच में यह सामने आया है। अब पुलिस नए सिरे से मामले की जांच कर रही है। वहीं जिस बदमाश के नाम से रंगदारी मांगी गई थी वह जेल में बंद है।

जानकारी हो कि गत 12 जनवरी को अनजान नंबर से कारोबारी मनोज मित्तल के पास फोन आया था। उसने बदमाश ऋषि चुलकाना के नाम से रंगदारी मांगी थी। कारोबारी के फोन काट देने और बाद में पिकअप नहीं करने पर उसी नंबर से मैसेज भेजकर धमकी भी दी गई थी।

पुलिस करीब दो सप्ताह से आरोपित का पता लगाने में जुटी है। धमकी देने वाला मोबाइल नंबर की आईडी एक मजदूर के नाम है, जो कई माह पहले गुम हो गया था। जिसने अपना नंबर बंद नहीं करवाया और पुलिस को सूचना भी नहीं दी। पुलिस उससे पूछताछ कर चुकी है, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। अब नए एंगल से आरोपित की खोजबीन की जा रही है।

कारोबारी को मिला है गार्ड

घटना के बाद से कारोबारी मित्तल दहशत में है। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद उसे सुरक्षा गार्ड उपलब्ध करवाया है। गार्ड के साये में वह कारोबार चला रहा है। फिर भी उसे डर बना रहता है। जिससे उसके कारोबार भी असर पड़ रहा है। वह बाहर आने जाने में भी खतरा महसूस करता है। थाना प्रभारी नरेंद्र कुमार ने बताया कि मजदूर से पूछताछ के बाद नए सिरे से मामले की जांच की जा रही है। आरोपित का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। जल्द ही आरोपित को काबू कर लिया जाएगा। चौकी प्रभारी हरनारायण ने भी यही बात कही है। गत 4 जनवरी को मातापुली रोड के व्यवसायी राज कुमार उर्फ राजू की हत्या के बाद इस घटना से अन्य कारोबारियों में भी दहशत का माहौल है।

Edited By: Anurag Shukla