जागरण संवाददाता, पानीपत : नगर निगम ठेकेदारों की मनमर्जी के चलते करोड़ों रुपये खर्च करने के बाद भी लोगों को सुविधा नहीं मिल पा रही। वार्ड-3 की परशुराम कॉलोनी में एक करोड़ के नाले का निर्माण करते समय ठेकेदार ने लोगों के घरों के बाहर खुला छोड़ दिया। अब लोगों को घरों से बाहर निकलने तक में परेशानी हो रही है। विकास नगर स्कूल में बनाया रेन वाटर हार्वेस्टिग सिस्टम भी छह महीने में ही जाम हो गया है।

नगर निगम कमिश्नर ओमप्रकाश ने मंगलवार को निरीक्षण में दोनों कमियों को पकड़ लिया। पार्षद अंजलि शर्मा ने रेन वाटर हार्वेस्टिग सिस्टम के काम न करने पर चिता जाहिर की। पार्षद ने कहा कि छह महीने पहले ही निगम ने सिस्टम लगवाया है। ठेकेदार ने इसका डिजाइन तो अच्छा बना दिया। इसकी सफाई नहीं की। बारिश का पानी स्कूल में जमा हो गया। कमिश्नर ने परशुराम कॉलोनी में नाला निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। यहां नाले के निर्माण में ठेकेदार की मनमानी को पकड़ा। स्थानीय लोगों ने बताया कि ठेकेदार ने घरों के बाहर नाला खुला छोड़ दिया है। वे अंदर या बाहर नहीं जा सकते। कमिश्नर ने जेई भूपेंद्र को काम सही ढंग से कराने के आदेश दिए। ठेकेदार के आनाकानी करने पर नोटिस देने की कही। पार्षद अंजलि शर्मा ने बताया कि खाली प्लॉटों में गदंगी के ढेर लगे हुए हैं। जेबीएम कंपनी बार-बार कहने के बाद भी कूड़े का ठीक से उठान नहीं कर पा रही है।

परशुराम कॉलोनी के लोगों से सीधी बात की

कमिश्नर ने परशुराम कॉलोनी के वार्ड संबंधित विवार को सुलझाने के लिए कॉलोनीवासियों के साथ विधाता स्कूल में सीधी बात की। लोगों ने बताया कि उनकी कॉलोनी वार्ड-3 में आती है। कमिश्नर ने इसके बाद सेक्टर-13-17 में निर्माणाधीन पार्कों को निरीक्षण किया। ठेकेदार को गुणत्तापूर्वक काम करने के आदेश दिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस