पानीपत, जागरण संवाददाता। पानीपत पंद्रह दिनों बाद फिर से कोरोना मुक्त हो गया है। अब कोई एक्टिव केस नहीं है। नवंबर का दूसरा पखवाड़ा कोरोना वैक्सीनेशन को गति देने वाला रहा है। मंगलवार को 7003 लाभार्थियों ने कोरोना रोधी डोज लगवाई।

स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़ों के मुताबिक आठ नवंबर को जिला कोरोना से मुक्त हो गया था। नौ नवंबर को ही एक मरीज की रिपोर्ट पाजिटिव आ गई थी। इसके बाद भी तीन केस पाजिटिव मिले। इनमें से सोमवार तक दाे केस एक्टिव चल रहे थे, 23 को रिकवर हो गए। अब तक पाजिटिव मिले 31 हजार 114 केसों में से 30 हजार 472 रिकवर हो चुके हैं। 642 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। मंगलवार को 524 आशंकित मरीजों के स्वाब सैंपल लिए गए हैं।

इतने लोगों ने ली वैक्सीन की डोज

उधर, डा. मनीष पासी ने बताया कि 18 से 44 साल आयु वर्ग में 1623 को पहली, 3664 को दूसरी डोज लगी। 45 साल या इससे अधिक आयु वर्ग में 443 को पहला और 1273 को दूसरा टीका लगाया गया। अब तक 8.67 लाख 26 को पहली, 3.41 लाख 484 को दोनों डोज लग चुकी हैं। वैक्सीनेशन में लोग बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। जिसका नतीजा है कि आज पानीपत कोरोना मुक्त हुआ है। 

डेंगू के सात और मरीज मिले

पानीपत में एक ओर जहां कोरोना से थोड़ी राहत मिली है। तो वहीं डेंगू लगातार अपने पांव पसारता जा रहा है। जिले में मंगलवार को डेंगू के 7 मरीज मिले है। स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को डेंगू के सात और मरीजों की पुष्टि की है। मरीजों की डिटेल मुख्यालय से पानीपत के अधिकारियों को मिली है। अगस्त से अब तक 225 पाजिटिव मरीज मिल चुके हैं। मलेरिया विभाग के हेल्थ सुपरवाइजर जसमेर सिंह ने बताया कि ये केस सेक्टर 13-17, किशनपुरा, शांतिनगर,, माडल टाउन, समालखा व चमराड़ा में मिले हैं।

Edited By: Rajesh Kumar