पानीपत, जेएनएन। पानीपत में कोरोना का अब तक का सबसे बड़ा कहर टूटा है। 366 मरीजों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। संक्रमितों में नौ माह से 10 साल आयु के 15 बच्चे शामिल हैं। 45 या इससे अधिक आयु के 255 संक्रमित मिले हैं। हालांकि, रिकवर होने वाले भी इस आयु वर्ग के अधिक हैं। उधर, स्वास्थ्य विभाग ने सूरज पहलवान की मौत रविवार को पोर्टल पर दिखाई है।

इस माह औसत देंखें तो रोजाना 150 से अधिक केस हैं। सिविल सर्जन डा. संजीव ग्रोवर ने बताया कि रिकवर होने वाले 88 मरीजों में से 62 की आयु 45 साल से ज्यादा है। रिफाइनरी में नौ माह का बच्चा संक्रमित मिला है। 13 मार्च को बच्चे का पिता भी पाजिटिव मिला था। गांव जालपाड़, बबैल, माडल टाउन में भी बच्चे संक्रमित मिले हैं। शहर के अलावा गांवों में भी संक्रमण का कहर टूटा है। उन्होंने बताया कि रविवार को 918 सैंपल लिए गए हैं। पानीपत में कुल पाजिटिव 14 हजार 390 केसों में से 1920 एक्टिव हैं। 12 हजार 222 रिकवर हो चुके हैं। 67 मरीज लापता हैं और 181 लोगों की मौत हो चुकी है।

सिविल सर्जन ने जिला वासियों से अपील करते हुए कहा कि बिना आवश्यक कार्य के बाहर न टहलें। भीड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें। मुंह पर मास्क पहने, दो गज की दूरी बनाकर रखें। जेब में सैनिटाइजर रखें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें।

बच्चों को संक्रमित कर रहे बड़े

रविवार को संक्रमित मिले बच्चों की आयु और संख्या देखें तो बड़े अपने बच्चों को भी संक्रमित कर रहे हैं। सिविल सर्जन ने बताया कि बच्चों और बुजुर्गों की इम्युनिटी कमजोर होती है। इनका ख्याल भी परिवार के दूसरे सदस्यों को रखना होता है। अभिभावकों से अपील है कि घर में रहकर भी मास्क पहनें। कोरोना जैसे लक्ष्ण हैं तो तुरंत जांच कराएं। बच्चों को अपने से दूर रखें।

इसलिए है वैक्सीनेशन जरूरी

जनवरी में 223 केस, दो मौत

फरवरी में 167 केस, दो मौत

मार्च में 783 केस, सात मौत

अप्रैल 18 तक 2701 केस, 17 मौत

 संक्रमित दर सबसे अधिक

कोरोना संक्रमितों के आंकड़े देखें तो सर्वाधिक केस 3506 सितंबर 2020 में मिले थे। 38 मरीजोें की मौत हुई थी। उस माह की पाजिटिव दर 111.86 प्रतिदिन थी। अप्रैल 2021 के 18 दिनों में 2701 केस (150.05 प्रतिदिन) मिल रहे हैं। रोजाना एक मरीज की मौत हो रही है।