पानीपत, जेएनएन। कोरोना संक्रमित कैदी पानीपत के सिविल अस्‍पताल की तीसरी मंजिल से फरार हो गया। सुबह डाक्‍टर जब पता करने पहुंचे तब उन्‍हें मरीज के फरार होने की सूचना मिली। पुलिस की टीमें उसकी तलाश में जुट गई हैं।

चोरी का आरोपित एक कैदी कोरोना संक्रमित हो गया था। उसे सिविल अस्‍पताल की तीसरी मंजिल पर दाखिल कराया गया था। पता चला है कि वह पाइप के सहारे भाग निकला। किसी को इसका पता भी नहीं चला।

तीन टीमें लगी

डीएसपी हेडक्‍वार्टर सतीश वत्‍स ने बताया कि पुलिस की तीन टीमें तलाश में जुटी हुई हैं। उसके स्‍वजनों से पूछताछ की जा रही है। जल्‍द ही उसे पकड़ लिया जाएगा। कोरोना संक्रमित को इस तरह की हरकत नहीं करनी चाहिए। उसकी वजह से समाज में कोरोना फैल सकता है।

हनी ट्रैप में फंसाने वाली इसी तरह भागी थी

हनी ट्रैप में फंसाने की आरोपित महिला इसी तरह फरार हो गई थी। करनाल से भागी थी। उसका अब तक पता नहीं चला है

पहले भी भागे लोग

पानीपत में क्वारंटाइन केंद्रों में रखे गए लोगों को रोकना पुलिस-प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग के लिए नई चुनौती है। सिविल अस्पताल से सोमवार को एक युवक फरार हो गया। ईएसआइ अस्पताल से तीन, एनसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल स्थित क्वारंटाइन वार्ड से सैंपल देने पहुंचा युवक भी फरार हो चुका है।

करनाल में क्‍वारंटाइन युवक घर से भागा था, जींद में मिला था शव

करनाल में एक युवक कोरोना संक्रमित के साथ था। इस वजह से उसे क्‍वारंटाइन कर दिया गया। बाद में वह युवक घर से भाग गया। उसका शव जींद में मिला था।

किसान आंदोलन के समर्थन में हड़ताल पर हरियाणा के आढ़ती, अनाज मंडी बंद

जींद से पंजाब और दिल्ली की हुई सीधी ट्रेन कनेक्टिविटी, श्रीगंगानगर-दिल्ली इंटरसिटी एक्सप्रेस शुरू

हरियाणा में बड़ा शोध: डिप्रेशन में है हमारी जमीन, दे रही है चेतावनी, नहीं संभले तो पडेगा भारी

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप