पानीपत/जींद, जेएनएन। जींद में सोमवार को घरों में पेंट करने वाले सुंदरनगर निवासी 55 वर्षीय व्यक्ति सहित दो लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। कोरोना पॉजिटिव मिले दोनों लोग पहले से ही पीजीआई रोहतक में दाखिल है। दूसरे कोरोना पॉजिटिव 30 वर्षीय है और उसने सैंपल देने के दौरान पता केवल जींद लिखवाया हुआ है। पीजीआई की तरफ से भेजी गई लिस्ट में युवक का पूरा पता व फोन नंबर नहीं होने के चलते स्वास्थ्य विभाग की टीम उसे ट्रेस करने में लगी हुई है। पेंट करने वाले व्यक्ति को अचानक ही तबीयत बिगड़ गई थी और उसके खून की उल्टी आई थी। खून की उल्टी आने के बाद परिवार के लोगों ने उसे पीजीआई रोहतक दाखिल किया। जहां उपचार के दौरान कोरोना से संबंधित लक्षण दिखाई देने पर पीजीआई 

प्रशासन ने 29 मई को उसका कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल लिया था। सोमवार को उस व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही पीजीआई ने जींद स्वास्थ्य विभाग को इसके बारे में अवगत करवाया। पीजीआई में उसके उपचार के लिए उसकी पत्नी गई हुई है। जबकि उसका बेटा व बेटी फिलहाल घर पर ही हैं। पीजीआई प्रशासन ने उसकी पत्नी का सैंपल भी ले लिया और उसे वहां पर क्वारंटाइन किया गया है। जबकि उसके बेटा व बेटी को होम क्वारंटाइन किया गया है और उनके मंगलवार को नागरिक अस्पताल में सैंपल लिए जाएंगे। 

आसपास के 14 लोग संपर्क में  

पेंट करने वाले की रिपोर्ट मिलते ही स्वास्थ्य विभाग का अमला सुंदर नगर में पहुंचा। जहां पर सामने आया कि उसके परिवार के सदस्यों के अलावा आसपास के 13-14 लोग भी उसके संपर्क में आए हैं। पिछले 20-25 दिन में उसके संपर्क में आए हुए लोगों को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने होम क्वारंटाइन किया। इनके सोमवार को सैंपल लिए जाएंगे।

युवक की हिस्ट्री को खंगाल रहा विभाग 

कोरोना पॉजिटिव मिला दूसरा युवक 30 मई को पीजीआई रोहतक में दाखिल हुआ था। जहां पर पीजीआई में उसका सैंपल लिया था। सैंपल देते समय उसने अपना पता जींद ही लिखवाया हुआ है और फोन नंबर भी नहीं दिया हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की टीम अब पीजीआई रोहतक से संपर्क उसके उसके आवास का पता लगाने में लगी हुई है, ताकि उसके संपर्क में आए हुए लोगों का पता किया जा सके। 

कोरोना पॉजिटिव की संख्या हुई 33

सिविल सर्जन डॉ. जयभगवान जाटान ने बताया कि जिले में कोरोना पॉजिटिव के एक्टिव केसों की संख्या पांच हो गई है। जिले में अब तक 33 कोरोना पॉजिटिव आए हैं। इसमें से 26 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं, जबकि कैंसर व टीबी की बीमार के साथ कोरोना होने से दो लोगों की मौत हुई है। 

जिले में ही बनेगा कोविड अस्पताल 

प्रदेश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढऩे से पीजीआई रोहतक पर लोड बढ़ गया है। मरीजों को दाखिल करने में दिक्कत को देखते हुए जिले में ही कोविड अस्पताल बनाने की योजना बनाई है, ताकि कोरोना पॉजिटिव आने वाले मरीज को यहीं पर दाखिल किया जा सके। कोविड अस्पताल बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग अब उन निजी अस्पतालों की तलाश कर रहा है जिसमें वेंटिलेटर के साथ आईसीयू की सुविधा हो। कोविड अस्पताल किस निजी अस्पताल में बनाना है इसके लिए मंगलवार को डीसी डॉ. आदित्य दहिया अधिकारियों की बैठक लेंगे।

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस