यमुनानगर, जागरण संवाददाता। कोरोना की दूसरी लहर का जुलाई माह में असर कम हुआ है। जुलाई माह के समाप्त होने पर अब जिले में 16 सक्रिय केस हैं। इनमें से 12 को होम आइसोलेट किया गया है। इस माह में कई बार ऐसा भी हुआ कि जिले में कोई भी कोरोना का केस नहीं मिला। मौतों की बात करें, तो मात्र पांच कोरोना संक्रमितों की मौत जुलाई माह में हुई है। रोजाना रिकवरी होने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। इस लिहाज से जुलाई का माह राहत भरा रहा। हालांकि अभी कोरोना का खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। स्वास्थ्य विभाग अभी भी नियमों का पालन करने व वैक्सीन लगवाने की अपील लोगों से कर रहा है। अब स्कूल भी खुल चुके हैं। सभी लोगों का टीकाकरण भी नहीं हुआ है। विशेषज्ञ भी अगस्त माह से तीसरी लहर का अंदेशा जता चुके हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग भी तैयारियां पूरी होने का दावा कर रहा है।

मार्च माह में कोरोना की दूसरी लहर शुरू हो गई थी। रोजाना केस बढ़ने लगे। हालात ऐसी हुई कि मरीजों के लिए बेड व आक्सीजन की किल्लत होने लगी। मई व जून में कोरोना पीक पर रहा। मई माह में 8391 कोरोना संक्रमित मिले। 9202 संक्रमित ठीक हुए। 79 मरीजों की मौत हुई है। जून माह की बात करें, तो 27 हजार 961 सैंपल लिए गए। इनमें से 914 कोरोना संक्रमित मिले। जबकि 35 मरीजों की मौत हुई। जुलाई माह में यह केस कम होने शुरू हुए।

वर्ष 2020 में यह रही कोरोना की स्थिति

माह-संक्रमित मिले-स्वस्थ हुए

अप्रैल-08-08

मई-02-02

जून-98-97

जुुलाई-239-234

अगस्त-1771-1739

सितंबर-2201-2192

अक्टूबर-740-730

नवंबर-659-650

दिसंबर-740-726

वर्ष 2021 में जनवरी से जून माह तक की स्थिति

माह-संक्रमित मिले-स्वस्थ हुए

जनवरी-251-240

फरवरी-163-180

मार्च-1477-891

अप्रैल-6250-5242

मई-8391-9202

जुलाई माह में केसों की संख्या शुन्य भी रही

27 जुलाई को एक भी केस कोरोना का नहीं आया था। जबकि चार मरीज ठीक हुए थे। 26 जुलाई को भी कोई केस नहीं मिला। तीन, नौ, 11, 12, 16 व 18 जुलाई को भी कोई नया केस नहीं मिला। लगातार केस कम होते रहे। हालांकि अब आखिर में कई दिनों से रोजाना एक या दो केस मिल रहे हैं।

Edited By: Anurag Shukla