करनाल, जागरण संवाददाता। कोरोना की तीसरी लहर में पहली बार अच्छी खबर आई है। वीरवार को संक्रमितों के मुकाबले ठीक होने वाले मरीजों की संख्या अधिक रही। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक वीरवार को जिले में कोरोना के 482 नये मामले मिले जबकि 503 मरीज ठीक हुए। हालांकि 88 वर्षीय कोरोना संक्रमित बुजुर्ग की मौत जरूर हुई।

जिले में अब तक 675508 व्यक्तियों के सैंपल लिए जा चुके हैं। 45113 पाजिटिव केस सामने आए थे, जिनमें 41792 मरीज ठीक होकर घर चले गए। कोरोना संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 568 तक पहुंच गया है। जिले में इस समय कोरोना वायरस के 2753 संक्रमण केस सक्रिय हैं। डीसी ने कहा कि सभी नागरिक लाकडाउन के नियमों का पालन करें। घर पर रहें तथा पैनिक न बनाएं।

खांसी-बुखार व सांस फूलने की शिकायत से जूझ रहा था बुजुर्ग

दुग्गल कालोनी निवासी 88 वर्षीय बुजुर्ग को चार दिन से खांसी, बुखार व सांस फूलने संबंधी समस्या थी। उसे 15 जनवरी को करनाल के विर्क अस्पताल लाया गया। चेकअप में कोरोना की रिपोर्ट पाजिटिव पाई गई। स्वजन उसे 15 जनवरी की रात को ही सिग्नस अस्पताल ले गए। उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मौत का कारण कोरोना संक्रमण के अलावा एआरडीएस, टाइप II डायबिटीज मेलिटस के साथ निमोनिया, सीएडी पोस्ट पीटीसीए, क्रोनिक किडनी रोग बताया जा रहा है।

103 केंद्रों पर 55233 किशोरों को लगाई वैक्सीन

सिविल सर्जन डा. योगेश कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के किशोरों के टीकाकरण अभियान के तहत जिले में अभी तक 55 हजार 233 बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज दी गई है। 103 स्थानों पर ऐसे किशोरों के लिए वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन किया गया है। जिले में वैक्सीनेशन अभियान की कमान संभाल रहे डा. अभय अग्रवाल ने बताया कि टीकाकरण कार्यक्रम के तहत जिले के 103 स्थानों पर वैक्सीनेशन चल रहा है। इसके लिए सरकार द्वारा शिक्षा विभाग के सहयोग से निजी व सरकारी स्कूलों में 100 से अधिक वैक्सीनेशन सेशन चलाए जा रहे हैं। साथ ही सामान्य अस्पताल तथा कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कालेज में बच्चों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है।

Edited By: Anurag Shukla