जागरण संवाददाता, पानीपत : गुरुग्राम के सेक्टर-17 निवासी नीरज चौधरी ने कांग्रेस के समालखा प्रत्याशी धर्म सिंह छौक्कर के नामांकन में उन पर दर्ज मुकदमे को छिपाने का आरोप लगाया है। उनका आरोप है कि छौक्कर पर हौजखास थाना नई दिल्ली में मई 2019 में केस दर्ज हुआ था। उन्होंने अपने नामांकन में इसका जिक्र नहीं किया। उधर, धर्म सिंह ने आरोपों को विपक्ष की चाल बताया है।

नीरज चौधरी शनिवार को शहर के एक होटल में आरोप लगाया कि धर्म सिंह से 12 अगस्त 2016 को प्लॉट नंबर-67 साउथ एक्सटेंशन पार्ट-2 नई दिल्ली में एक प्रॉपर्टी 2.57 करोड़ में खरीदी थी। इसका कब्जा ले लिया था। इसके बाद धर्म सिंह के भतीजे राजबीर ने उसकी प्रॉपर्टी पर कब्जा कर लिया। इस मामले में हौजखास नई दिल्ली में धर्म सिंह और राजबीर पर 24 मई 2019 को आइपीसी की धारा 420, 448, 453, 506 और 120-बी में मुकदमा दर्ज किया था। उन्होंने धर्म सिंह का 2019 के विस चुनाव में जमा शपथ पत्र आरटीआइ में निकलवाया। धर्म सिंह ने उस मुकदमे का जिक्र नहीं किया है। पुलिस इसमें नोटिस भी जारी कर चुकी है। उसका आरोप है कि धर्म सिंह के साथ प्रॉपर्टी के विवाद में समझौता हुआ था। उसने 6.50 करोड़ रुपये के दो चेक दिए। ये दोनों चेक बाउंस हो गए। कोर्ट ने आरोपित को गिरफ्तारी वारंट जारी कर रखा है। विपक्ष की हाल की बौखलाहट : धर्म सिंह

समालखा से कांग्रेस के प्रत्याशी धर्म सिंह छौक्कर ने बताया कि उन पर कोई मुकदमा दर्ज नहीं है और न ही नोटिस मिला है। नीरज चौधरी नाम का व्यक्ति मुझे ब्लैकमेल करता है। उस पर सात केस दर्ज हैं। विपक्ष के लोग उसे हथियार बना रहे हैं। यह सब विधानसभा चुनाव में उनकी हार की बौखलाहट को दर्शाता है। हलके की जनता इसका हिसाब चुकाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस