जागरण संवाददाता, यमुनानगर : साहब, मेरी पत्नी व दो वर्षीय बेटी का साढ़ौरा के व्यक्ति ने अपहरण कर लिया। अब पुलिस के पास जाते हैं, तो वह उल्टा मुझे ही धमकी दे रहे हैं। पुलिसकर्मी कह रहे हैं कि तुमसे अपनी पत्नी नहीं संभाली जाती। अब वह कहां से तुम्हारे पास आएगी। यह गुहार गांव उन्हेडी के दिनेश कुमार ने डीएसपी के सामने लगाई। वह दर्जनों ग्रामीणों के साथ डीएसपी के पास पहुंचे थे।

डीएसपी को दी गई शिकायत में दिनेश ने बताया कि 25 जुलाई को वह अपनी पत्नी व दो वर्षीय बच्ची के साथ यमुनानगर आया था। यहां से उसकी पत्नी बेटी को साथ लेकर साढ़ौरा के असगर अली के पास दवाई लेने गई थी। जबकि वह आइटीआइ जगाधरी वर्कशॉप में कार्य के लिए चला गया। शाम को काम खत्म कर जब वह वापस घर पहुंचा, तो उसके अपनी पत्नी नहीं मिली। उसने इधर उधर उसकी तलाश की, लेकिन उसका कोई पता नहीं लगा। इसके बाद मामले की शिकायत सिटी थाने में दी गई। पीड़ित ने शक जताया कि उसकी पत्नी व पुत्री को गायब करने में असगर अली व उसकी पत्नी का हाथ है। पुलिस इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। जब पुलिस के पास कार्रवाई के लिए जाते हैं, तो उल्टा उनके साथ ही अभद्रता की जाती है। इसलिए सिटी पुलिस से यह मामला सीआइए को ट्रांसफर किया जाए। ताकि उसकी पत्नी व बेटी को बरामद किया जा सके। मामले को लेकर भारतीय किसान संघ के रामबीर ¨सह, विकास राणा भी पीड़ित दिनेश के साथ पहुंचे। उनके सामने डीएसपी ने मामले में कार्रवाई कराने का आश्वासन दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस