पानीपत, [राज सिंह]। शहर स्थित एक कॉलेज के कर्मचारी ने लैब में काम करने वाले युवक को ऐसा दर्द दिया है कि सुनकर रूह कांप जाएगी। युवक के साथ कर्मचारी ने डरा-धमकाकर कई बार कुकर्म किया। युवक एचआइवी से ग्रस्त हो गया। कॉलेज प्रबंधन ने उसकी शिकायत को अनसुना कर दिया और उसे नौकरी से भी निकाल दिया है।   

न्यायालय परिसर में अपनी शिकायत लेकर खड़े युवक ने बताया कि उसकी आयु करीब 26 साल है। परिवार आर्थिक रूप से तंग है। उसे सिफारिश के आधार पर कॉलेज की लैब में 8500 रुपये मासिक मानदेय पर लैब में नौकरी मिली थी। कुछ दिन तो सब ठीक रहा, इसके बाद एक कर्मचारी उसे जबरन अपने कमरे पर ले जाने लगा। करीब डेढ़ साल के अंतराल में कर्मचारी कई बार कुकर्म किया। विरोध करने पर नौकरी से निकाले जाने और जान से मारने की धमकी देता था। 

करीब एक साल पहले तबियत खराब रहने लगी तो युवक ने सरकारी अस्पताल में जांच करायी। इसके बाद उसे पता चला कि वह एचआइवी ग्रस्त हो गया है। युवक का कहना है कि उसका ट्रीटमेंट चल रहा है। 

प्रबंधन ने नहीं की सुनवाई  

पीडि़त ने बताया कि एचआइवी पॉजिटिव की रिपोर्ट आने पर उसने कॉलेज के प्राचार्य से कर्मचारी की शिकायत की थी। प्राचार्य ने जूते मारकर संस्थान से बाहर करने की धमकी दी थी। 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस