पानीपत, जागरण संवाददाता। सोमवार से कक्षा पहली से तीसरी के बच्चों की क्लास भी लगने जा रही है। जिले के करीब 23 हजार बच्चों को स्कूल खुलने का इंतजार था। हालांकि कोई बच्चा आनलाइन पढ़ाई जारी रखना चाहता है तो वो रख सकता है। स्कूल आने वाले बच्चों को अभिभावकों की अनुमति लानी अनिवार्य होगी। वहीं विभाग की ओर से कोविड-19 नियमों का सख्ती से पालन करने के साथ एसओपी भी जारी किया गया है। हालांकि सीबीएसई से संबंधित स्कूल अभी उक्त कक्षा के बच्चों की क्लास शुरू नहीं कर रहे हैं।

इन बातों का रखना होगा ख्याल

--बच्चे एक-दूसरे से लंच शेयर नहीं कर सकेंगे।

--बच्चों को पानी की बोतल भी खुद की साथ लेकर आनी होगी।

--हर रोज बच्चों का तापमान जांचने के साथ आक्सी मीटर से आक्सीजन लेवल भी जांचा जाएगा।

--बच्चों के तापमान की रिपोर्ट जिला शिक्षा अधिकारी के पास भेजनी होगी।

--बच्चे को खांसी, जुकाम व बुखार के लक्ष्ण मिलने पर उसे घर वापस भेजा जाएगा

--एक कमरे में 25 बच्चे ही बैठा जाएंगे।

--बच्चों के लिए स्कूल का समय सुबह नौ से दोपहर 12 बजे तक रहेगा।

--शिक्षकों के लिए समय सुबह साढ़े आठ से डेढ़ बजे तक होगा।

पहली से बारहवीं तक पहले से लग रही हैं कक्षाएं

जैसे जैसे कोरोना संकट कम हुआ तो वैसे ही प्रदेश में स्कूल खुलने लगे। शुरुआत में 16 जुलाई से नौंवी से बारहवीं व 23 जुलाई से छठी से आठवीं की कक्षाएं लगनी शुरू हुई। इसके बाद एक सितंबर से चौथी व पांचवीं के बच्चें भी स्कूल जाने लगे। अब दो दिन बाद सोमवार से पहली से तीसरी कक्षा के बच्चे भी स्कूल पहुंचेंगे।

नियमों का करना होगा सख्ती से पालन

जिला शिक्षा अधिकारी रमेश कुमार ने बताया कि सोमवार से पहली से तीसरी की कक्षाएं भी लगने जा रही है। इसको लेकर सभी स्कूल इंचार्ज को अवगत करा दिया गया है। सभी को कोविड-19 नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि स्कूल आने के लिए बच्चे पर कोई दबाव नहीं होगा। वो चाहे तो घर से आनलाइन पढ़ाई भी जारी रख सकता है।

Edited By: Anurag Shukla