पानीपत, जेएनएन। अगर आप जागरूक नहीं है तो आपको जिंदगी भर पछताना पड़ सकता है। जी हां, ये सच है। जरा सी लापरवाही से आप जिंदगी भर की कमाई खो सकते हैं और इसे अंजाम देने के लिए आपके बैंक के खाते में ठगों की नजर है। पानीपत में रेलवे कर्मचारी के साथ ऐसा ही कुछ हुआ। उनके खाते से एक लाख आठ हजार रुपये निकाल लिए गए।

रेलवे कालोनी के कर्मचारी से पीएनबी का का मैनेजर बताकर ठग ने ओटीपी नंबर पूछा और ऑनलाइन 1 लाख 8 हजार रुपये की ठगी कर ली। इसके बाद भी ठग पीडि़त से बार-बार ओटीपी नंबर पूछते रहे। पीडि़त ने नंबर नहीं बताया। इसी वजह से 1 लाख 4 हजार रुपये ठगने से बचाव हो गया। पीडि़त नौ दिन बाद बैंक पहुंचा तभी उसे ठगी का पता चला।    

पीएनबी का मैनेजर बता की ठगी

औरंगाबाद (बिहार) जिले के जैतपुर गांव के 57 वर्षीय गोपाल प्रसाद ने बताया कि वह रेलवे में बिजली विभाग में हेल्पर के पद पर है और कम पढ़ा-लिखा है। वह रेलवे कॉलोनी में रहता है। स्वजन गांव में रहते हैं। 15 फरवरी को एक व्यक्ति ने कॉल कर बताया कि वह पीएनबी में मैनेजर है। आपका खाता व डेबिट कार्ड बंद कर दिया जाएगा। इसे आधार व पैन कार्ड से जुड़वा दें। मोबाइल फोन पर छह नंबर का मैसेज आएगा। इसे बता देना। 

बार-बार पूछता रहा ओटीपी

उसने नंबर बता दिया। वह 19 फरवरी को वह गांव चला गया था। वह 26 फरवरी को पानीपत लौटा। व्यक्ति ने फिर ओटीपी नंबर पूछा। उसने नहीं बताया तो कहा कि बैंक जाकर खाता नंबर आधार कार्ड से जुड़वा दे। वह बैंक गया तो मैनेजर ने बताया कि खाता आधार से जुड़ा है। उन्होंने कॉल नहीं की। खाते की जांच कराई तो पता चला कि 1 लाख 08 हजार रुपये निकाल रखे हैं। 

बेटी की शादी के बचत के पैसे थे

जांच कराई तो जानकारी मिली की ठग ने 15 फरवरी को 58 हजार और 16 फरवरी को 49999 रुपये निकाल लिए। ठग भी उससे ओटीपी नंबर पूछता है। गत वर्ष उसने बेटी की शादी की थी। उसमें से एक लाख रुपये बचत के खाते में डलवा दिए थे। सैलरी भी उसके खाते में जमा होती है। मॉडल टाउन चौकी के एएसआइ रमेश कुमार ने बताया कि ठगी मामला दर्ज कर ठग की तलाश की जा रही है। 

ये हो चुके हैं ठगी के मामले  

-27 जनवरी को बैंक ऑफिसर महावीर कॉलोनी के विशाल के खाते से 4000 रुपये निकाले। 

-27 खोतपुरा गांव के देवेंद्र संधू के खाते 20000 रुपये निकाले। 

-20 फरवरी को राजनगर के तिजेंद्र व उनकी मां के खाते से 55 हजार रुपये निकाले।

-26 फरवरी को राजनगर के मैकेनिक राजेंद्र के खाते से 40 हजार रुपये निकाले।

-27 फरवरी को मुखीजा कॉलोनी के सतवीर का डेबिट कार्ड बदलकर खाते से 35 हजार रुपये निकाले।  

ये रखें सावधानी 

- एटीएम मशीन में कार्ड स्वाइप करने की जगह की हिलाकर जांच करें।

- कार्ड स्वाइप के खांचे से कुछ अलग होने पर प्रयोग न करें।

- एटीएम रूम में अकेले ही छिपाकर गोपनीय कोड डालें।

- ई-पेमेंट के दौरान मशीन की जांच कर खुद स्वाइप कर कोड डालें। 

- कहीं भी एटीएम का पिन न लिखें।

 

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस