पानीपत, [अजय सिंह]। पोलिंग बूथों से मतदान कराकर लौटे कर्मचारियों में मशीनें जमा कराने के लिए शाम 7 बजे से होड़ लगी रही। एसडी कॉलेज, एसडी सीसे स्कूल, एसडीवीएम सिटी और आर्य कॉलेज में सीयू, वीयू, वीवीपैट मशीन और चुनाव सामग्री जमा कराने को लेकर कर्मचारी धक्का-मुक्की करते रहे। रात एक बजे तक शिक्षा संस्थानों की पार्क और लॉन में कर्मचारियों के समूह चुनावी कागजात रोशनी में सीलबंद करने में जुटे रहे।

घर पहुंचाने के लिए रोडवेज बसों की व्यवस्था

शैक्षणिक संस्थानों में चुनाव सामग्री जमा कराने के बाद कर्मचारियों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए एसडीएम पानीपत ने चार रोडवेज बसें उपलब्ध करा रखी थी। बस स्टैंड के ट्रैफिक इंचार्ज सतीश पंवार ने बताया कि कर्मचारियों की संख्या के मुताबिक बसों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। बसों के संचालन के लिए चार चालकों और चार परिचालकों की ड्यूटी लगाई गई है।

नए कर्मचारियों ने पुराने कर्मचारियों से मांगी मदद

चुनाव सामग्री लेने, इस्तेमाल करने और जमा कराने के संदर्भ में कर्मचारियों को ट्रे¨नग दी गई थी। इसके बावजूद भी अधिकतर नए कर्मचारी दस्तावेजों की पूर्ति करने में परेशानियों का सामना करते दिखाई दिए। कुछ फार्म लाने के लिए भागदौड़ करनी पड़ी तो कर्मचारियों को कोसने लगे। समय पर घर जाने की बात कहकर कामकाज पूरा कराने के लिए पुराने कर्मचारियों से मिन्नतें करने लगें।

शांतिपूर्ण तरीके से निपटा चुनाव, नहीं हुई कोई परेशानी

आइओसीएल कंपनी के पीठासीन अधिकारी राहुल कुमार ने बताया कि ट्रे¨नग के बाद उन्हें मतदान कराने में कोई परेशानी नहीं हुई। गांव में जो कोई छोटी परेशानी हुई, उसे ग्रामीणों ने सहयोग से हल कर लिया। रात 8:30 बजे पानीपत पहुंचकर कागजातों को सीलबंद करना शुरू किया। महज 30 मिनट में काम पूरा हो गया।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप