पानीपत/अंबाला, जेएनएन। नारायणगढ़ में भाजपा की ट्रैक्टर यात्रा का मामला अब काफी तूल पकड़ गया है। पहले जहां किसान की मौत पर हत्या सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया था, वहीं अब प्रदर्शन कर रहे किसानों पर रास्ता रोकने, वाहनों में तोडफ़ोड करने सहित जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज किया गया है। यह केस किसान यूनियन जिलाध्यक्ष सहित 14 लोगों पर दर्ज हुआ है। माना जा रहा है कि यह प्रकरण अब और उग्र हो सकता है, जबकि भाकियू भी अब आगामी रणनीति बनाने में जुटी है।

नारायणगढ़ थाना पुलिस को दी शिकायत में ऋषिपाल निवासी गांव लौटों ने बताया कि वह 14 अक्टूबर 202 को दोपहर के समय अपने निजी काम से अंबाला शहर जा रहा था। जब वह नेशनल हाईवे पर मिलन पैलेस नारायणगढ़ के  नजदीक पहुंचा, तो किसान यूनियन के मलकित सिहं निवासी शाहपुरा के साथ मलकीत सिंह की शह पर रमधन वासी लखनौरा, धन्ना सिंह वासी गांव लखनौरा, नैब सिंह वासी लखनौरा, गौरव वासी लखनौरा, सतीश वासी बख्तुआ, गुरदेव वासी बख्तुआ, बृज पाल उर्फ फौजी वासी बख्तुआ, वीरु वासी मियांपुर, सरवन सिंह वासी गांव मिर्जापुर, चरणजीत वासी गांव मिर्जापुर, लक्की वासी मिर्जापुर, अजय सैनी वासी गांव पतरेहड़ी, मंजीत वासी गांव रच्छेड़ी व उनके साथ करीब 300 लोगों ने हाथों में लाठी डंडे लेकर नेशनल हाईवे को जाम किया था।

इससे आने-जाने वाले राहगीरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। इन लोगों ने ट्रैक्टर व अन्य वाहनों को रोका और इन में तोडफ़ोड़ की। इतना ही नहीं राहगीरों के साथ हाथापाई की, गाली गलौच किया। इसके अलावा लोगों को वापस जाने को कहा और जान से मारने की धमकी तक दी। जब शिकायतकर्ता ने अंबाला जाने के लिए रास्ता मांगा, तो उसके साथ हाथापाई हुई और जान से मारने की भी धमकी। पुलिस ने किसान यूनियन के प्रधान मलकीत सिंह, रमधन, सतीश, गुरदेव, धन्ना सिंह, नैब सिंह, गौरव, बृजपाल उर्फ फौजी, वीरू, सरवन सिंह, चरणजीत सिंह, लक्की, अजय सैनी, मंजीत के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप