पानीपत, जेएनएन - पानीपत में दिल्‍ली पैरलल नहर में एक कार गिर गई। कार में तीन युवक सवार थे। दो युवक किसी तरह बचकर बाहर निकल आए। एक युवक नहर में बह गया। उसकी तलाश की जा रही है। तीनों युवक दिल्‍ली बार्डर पर किसानों के आंदोलन से जुड़ने जा रहे थे। रास्‍ते में हादसे का शिकार हो गए। डूबे हुए युवक की तलाश की जा रही है।

कैथल से तीन युवा कार से दिल्‍ली की तरफ जा रहे थे। गोहाना रोड पर दिल्‍ली पैरलल नहर के साथ दिल्‍ली बाईपास रास्‍ता है। यहां से बिना जाम के निकला जा सकता है। लेकिन सिंचाई विभाग ने एक मोड़ पर न तो दीवार बनवाई है और न ही कोई संकेतक है। इस वजह से रोजाना हादसों का खतरा रहता है। कैथल के युवा हादसे का शिकार हो गए। जैसे ही उनकी गाड़ी एक तरफ मुड़ते हुए दूसरी तरफ जाने लगी तो आगे रास्‍ता दिखाई नहीं दिया। कार सीधे नहर में गिर गई।

दीवार की जगह लकड़ी

दिल्‍ली पैरलल नहर में कोई गिर न जाए, इसके लिए दीवार बनाने की बजाय पेड़ों की लकड़ी रख दी गई है। कई जगहों पर तो ये भी नहीं है। यहां से गुजर रहे लोगों ने कहा कि अगर प्रशासन की ओर से यहां पर दीवार होती, संकेतक बोर्ड लगे होते तो हादसा नहीं होता। अब भी प्रशासन को ध्‍यान देते हुए यहां पर व्‍यवस्‍था बनानी चाहिए। स्‍ट्रीट लाइट तक नहीं है।

हादसों की नहर बनती जा रही 

दिल्ली पैरलल नहर हादसों की नहर बनती जा रही है। इसी नहर में हरीश शर्मा ने छलांग लगाकर खुदकुशी की थी। उन्हें बचाने कूदे उनके दोस्त राजेश शर्मा भी डूब गए। इसी नहर के साथ लगती बिंझौल नहर में तीन बच्चों के शव मिले थे। 

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कैंटर और बलेनो गाड़ी की टक्कर, बीएसएफ जवान सहित पत्नी और बेटी की मौत

Edited By: Ravi Dhawan