राज सिंह, पानीपत

राजनीति और चुनाव शतरंज के खेल की तरह ही है। खेल में हाथी, घोड़े, ऊंट और प्यादों का काम होता है राजा-रानी को जिताना। ठीक वैसे ही चुनाव में भी साम-दाम-दंड-भेद अपनाकर, हर कार्यकर्ता का काम अपने पंसदीदा प्रत्याशी को विजय दिलाना होता है। डिजीटलाइज्ड और सोशल मीडिया के दौर में वॉट्सएप ग्रुप मोहरे बने हैं। बाकी सब अपनी-अपनी चाल चल रहे हैं।

चुनावी खेल में प्रत्याशी राजा है। ब्यूटीफुल सिटी पानीपत, प्रभुदेन सर्वजन महिला समिति, हरियाणा की राजनीति, मीडिया ऑफ पानीपत, ऑल इंडिया मीडिया ग्रुप, जय श्रीराम, समाज सेवा संगठन, हमारा कृष्णपुरा-शिवनगर, संस्कार न्यूज, पीएनपीसीटीयू-43, सहित तमाम वॉट्सएप ग्रुप रात-दिन सक्रिय हैं। इनमें से अधिकतर पुराने ग्रुप हैं। कुछ चुनावी कुकुरमुत्ते की तरह उग आए हैं। इन ग्रुप में रोजाना 50 से 100 पोस्ट डाली जाती हैं। प्रत्याशियों ने कहां-कहां प्रचार किया, नेताजी के कार्यक्रमों का शेड्यूल, किस नेता ने कहां क्या कहा, किसका कहां विरोध हुआ सहित राष्ट्रीय नेताओं से जुड़े समाचार पोस्ट किए जा रहे हैं।

वॉट्सएप ग्रुपों पर जिला प्रशासन की नजर है, एक-दो पोस्ट ऐसी भी अपलोड की जाती है। डिजीटल प्रचार यहीं नहीं थमा है, फेसबुक पर भी तमाम लोग अपने चहेते के समर्थन में पोस्ट शेयर कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर कम सक्रिय रहने वालों को सबसे अधिक दिक्कत हो रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप