पानीपत, जेएनएन। मार्बल मार्केट में एटीपी नवीन से मारपीट के मामले में व्यापारी अब जेई मनिंद्र को सस्पेंड कराने पर अड़ गए हैं। साथ ही डीटीपी ललित बजाद का तबादला कराने के लिए लामबंद हो गए हैं। उधर, घटना के 36 घंटे बाद भी वीडियो फुटेज होने के बावजूद पुलिस ने किसी पर भी कार्रवाई नहीं की है। एटीपी का कॉलर पकडऩे वाले पूर्व मेयर सरदार भूपेंद्र सिंह के आक्रामक तेवर बरकरार है। उन्होंने हर हाल में अधिकारियों पर कार्रवाई कराने का दावा किया है। 

सनौली रोड पर मार्बल मार्केट में बीते बृहस्पतिवार को दोपहर 12 बजे डीटीपी की टीम ग्रेनाइट पैलेस और राजधानी शोरूम ध्वस्त करने गई थी। व्यापारियों ने रुपये मांगने के आरोप लगाए। भीड़ ने घेर कर एटीपी की धुनाई कर दी। सोशल मीडिया में जो वीडियो क्लिप वायरल हुई उसमें पूर्व मेयर और वार्ड नंबर 19 के पार्षद लोकेश नांगरू दोनों मौजूद थे। पूर्व मेयर एटीपी को खींचते हुए दिखाई पड़ रहे हैं। उस भीड़ में एक युवक बार-बार एटीपी को थप्पड़ मारते दिखाई दे रहा है। 

अब पुलिस को करनी है कार्रवाई

एटीपी नवीन का कहना है कि उन्होंने पुलिस में शिकायत दे दी है। कार्रवाई तो अब पुलिस को करनी है। सारा मामला नगर योजनाकार विभाग के उच्चाधिकारियों के संज्ञान में डाल दिया गया है।               

2007 में बनी पत्थर मार्बल मार्केट 

सनौली रोड पर वर्ष 2007 में मार्बल मार्केट बनाई गई। यहां 30 शोरूम बने हुए हैं। बरसत रोड, कुटानी रोड, काबड़ी रोड पर भी उद्योग लगे हैं। औद्योगिक सेक्टरों को छोड़कर बाकी स्थानों पर लगे उद्योगों शोरूमों को अवैध में गिना जाता है। पिछले वर्ष इस समस्या को देखते हुए सरकार ने 70 प्रतिशत जहां निर्माण कार्य हो चुके हैं, उन्हें नियमित करने के लिए सर्वे शुरु करवाया था। सर्वे होने के बाद भी नियमित नहीं किया गया।

बड़ा सवाल

वीडियो में इतनी स्पष्टता होने के बाद भी पुलिस अब किस उच्चाधिकारी के आदेश का इंतजार कर रही है?    

विधायक से मिलेंगे

उद्यमियों ने जीटी रोड स्थित ईट स्ट्रीट रेस्टोरेंट में बैठक कर निर्णय लिया कि इस मामले में शनिवार को सुबह 11 बजे विधायक प्रमोद विज से मुलाकात करेंगे। डीटीपी का तबादला और जेई को सस्पेंड करवाने की मांग करेंगे। बैठक की अध्यक्षता कर रहे इंडस्ट्री एसोसिएशन के प्रधान राकेश चुघ ने कहा कि यदि अवैध रूप से उद्योग लगे हैं तो उस समय पर क्यों नहीं रोका गया? 

बैठक में ये रहे मौजूद

बैठक में विनोद खंडेलवाल, मोहन लाल गर्ग, सुशील गुप्ता, भीम सचदेवा, विनोद धमीजा, अनिल बरेजा, अतुल गुप्ता, सतीश, हरीश शर्मा, महेंद्र मेहता, रामभज गर्ग, राजेंद्र खुराना, मुकेश टूटेजा, पूर्व मेयर भूपेंद्र, गुरमीत दुआ, विक्की लीखा, प्रवीण वर्मा मौजूद रहे। 

जांच अधिकारी डीएसपी हेड क्वार्टर सतीश वत्स से सीधी बातचीत :-  

प्रश्न : एटीपी मारपीट में मामले में क्या कार्रवाई की गई?

जवाब : मामला दर्ज किया जा चुका है। 

प्रश्न : घटना की वीडियो वायरल होने के बाद भी कार्रवाई में देर क्यों हो रही है?  

जवाब : वीडियो के हिसाब से ही आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई होगी। इसीलिए अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। किसका क्या कसूर है, उसके हिसाब से धारा लगेगी। 

प्रश्न : उद्यमियों ने रिश्वत लेने के आरोप में शिकायत दी उस पर कार्रवाई क्यों नहीं की गई?

जवाब : आरोपों की जांच की जा रही है। रिश्वत लेने के साक्ष्य मिलेंगे तो कार्रवाई निश्चित है। 

प्रश्न : पूर्व मेयर व पार्षद के खिलाफ कार्रवाई होगी? 

जवाब : जांच की जा रही है। जांच में जो कोई भी आरोपित होगा कार्रवाई की जाएगी।  

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस