पानीपत, जेएनएन। हशविप्रा में आस्टिज कोटे के प्लाटों में बड़ा घोटाला सामाने आया। सीए हुडा ने आस्टिज कोटे के तहत दो प्लाट (714 व 855) सेक्टर 13-17 में अलाट किए थे। प्रशासक रोहतक ने बिना सीए से अनुमित लिए सात प्लाट अलाट कर दिए। प्लाटों की इस बंदर बांट को दबाया गया। सीए हुडा पंचकुला ने अब मामले को पकड़ा है। जिन लोगों ने प्लाट लिए हैं वह जिन अधिकारियों ने प्लाट आवंटित किए हैं के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने, प्लाट रद्द करने के साथ ही इन प्लाटों का कंपलीशन देने से लेकर यदि क्ंसट्रक्शन, नक्शे पास की कोई गतिविधी चल रही हो तो उस पर रोक लगाने के आदेश दिए गए हैं। इन आदेशों की अपील कमिशन्र मुख्य सचिव टाउन कंट्री प्लानिंग एके सिहं को की गई है।

इन 26 लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश

1. संतोष महाजन पत्नी बिशन दास महाजनन, बटाला रोड गली विजय नगर अमृतसर

2. जतिन धवन

3.मधु बाला गुप्ता हुकम चंद सिंह रोड अमृतसर

4. प्रमोद कुमार शिव नगर गली नंबर 4

5.आर्यान एस्टेट आफिसर पानीपत

6.बलदेव राज जतिन धवन माडल टाउन

7.कुशुम बांगड़

8.स्नेह लता सुखदेव नगर पानीपत

9. जतिन धवन पानीपत

10. शिवम पुथला पानीपत

11. जयवंति देवी अर्बन एस्टेट सेक्टर 5 करनाल

12. गरीमा अग्रवाल पानीपत

13. प्रमोद कुमार

14 प्रमोद कुमार पानीपत

15 बाला देवी पानीपत

16, सोनिया बिनय कुमार माडल टाउन पानीपत

17. सुषमा डिंगरा मकान नंबर 94 सेक्टर 11 पानीपत

18 ,जतिन धवन पानीपत

19. बिमल प्रसाद पानीपत

20, राम लूभा गली नंबर आठ

सरीफपुरा अमृतसर

21. निशांत ढिंगड़ा माडल टाउन पानीपत

22. प्रशासक एचएसवीपी मुख्यालय पंचकुला

23 वीएस हुडा प्रशासक एचएसवीपी रोहतक

24 प्रशासक एचएसवीपी रोहतक

25 योगेश रंगा एस्टेट आफिसर पानीपत

26 एस्टेट आफिसर एचएसवीपी पानीपत ।

क्या आस्टिज कोटा

जिन लोगों की जमीन सेक्टर काटते समय एक्वायर की गई है। उन्हें पांच साल पुरानी पालिसी के तहत आस्टिज कोटे पर रिजर्व प्राइस पर प्लाट दिया जाता है। 75 प्रतिशत से अधिक जमीन देने वालों को ही प्लाट देने का प्रावधान है। इस पालिसी के तहत प्लाट आवंटित किए गए।

थर्ड पार्टी राइट कि्येट

प्लाट आवंटित करने के बाद प्लाट के अलाटी ने आगे प्लाट बेच दिया है। इसमें थर्ड पार्टी राइट क्रियेट हो गया है। अर्थात स्कीम का फायदा लेने वाले महंगे दामों में प्लाट बेच कर जा चुके हैं। जिन्होंने बाद में प्लाट खरीदा है।उनकी जमा पूंजी खतरे में पड़ सकती है।

सोनीपत में हुआ था घोटाला

इस तरह का बड़ा घोटाला सोनीपत में हुआ था। जिसमें सीए हुडा ने 35 प्लाट रेस्टोर करवाए थे। उसी घोटाले से पानीपत के घोटाले को क्लब किया गया है।

पानीपत एस्टेट आफिसर अनुपमा मलिक का कहना है कि इस आशय के आर्डर मिले है।

 

Edited By: Anurag Shukla