पानीपत, जागरण संवाददाता। दशहरे के दिन बड़ा हादसा हो गया। एक तरफ जहां खुशियां मनाए जाने की तैयारी चल रही थी, दूसरी तरफ बड़ा हादसा हो गया। पानीपत के गांव डाहर की धानक बस्‍ती में हाईटेंशन तार की चपेट में आने से दो युवकों की मौत हो गई। इनके तीन साथी घायल हो गए हैं। ये सभी त्‍योहार के दिन स्‍टाल लगाने की तैयारी कर रहे थे। तभी हादसे के शिकार हो गए। एक युवक तो तीन बहनों का इकलौता भाई था।

हुआ ये कि पांच युवक स्‍टाल लगाने के लिए साफ-सफाई कर रहे थे। इनके पास गीला बांस था। बांस को लगाने लगे तो तार से टकरा गया। बांस 30 वर्षीय धर्मवीर के हाथ में था। धर्मवीर के साथ ही 25 वर्षीय कीमती लाल भी था। दोनों करंट की चपेट में आ गए। इन दोनों को बचाने के लिए अरुण, चांद और नवाब दौड़े। ये तीनों भी झुलस गए। धर्मवीर और कीमती लाल की वहीं मौत हा गई। अरुण की हालत गंभीर है।

गांव में मातम

दशहरे के दिन पूरे गांव में मातम पसर गया है। डाहर का कीमती लाल तीन बहनों का इकलौता भाई था, मजदूरी करके परिवार चलाता था। वहीं, धर्मवीर के छह भाई-बहन हैं। सिविल अस्पताल में शवों को लाया गया है। यहां पुलिस भी मौजूद है।

चार साल से नहीं बदली लाइन

हादसा होने के बाद गांव वालों में रोष भी है। दरअसल, पिछले चार साल से ग्रामीण इस लाइन को बदलने की मांग कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि धानक बस्‍ती से बुड़शाम में निजी हैचरी तक लाइन जा रही है। सड1क से आठ फीट ही ऊंचाई है। लाइन को बस्‍ती के ऊपर से क्‍यों निकलवाया गया, यह सवाल कई बार उठा चुके हैं। बिजली निगम के अधिकारियों ने उनकी कोई सुनवाई नहीं की। अब ये हादसा हो गया। लाइन की वजह से कई बार वाहन टकराए।

Edited By: Anurag Shukla