यमुनानगर, जेएनएन। अगर आपके पास किसी राणा प्रताप का कॉल आए तो जरा सावधान हो जाएं। खासतौर पर तब जब राणा प्रताप ये कहे कि आप केबीसी यानी कौन बनेगा करोड़पति की लाटरी जीत गए हैं। तो समझ जाइए ये कोई और नहीं बल्कि साइबर ठग है। उसके झांसे में न आए। उसे कोई भी पर्सनल डिटेल मत दें। न बैंक और ईवॉलेट से संबंधित डिटेल। वरना आपका बैंक खाता खाली हो सकता है। कुरुक्षेत्र के युवक से करीब एक लाख की ठगी की।

कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी) में 25 लाख रुपये की लाटरी जीतने का झांसा देकर दो लोगों ने युवक से एक लाख दो हजार रुपये ठग लिए। गांव हरिपुर जाटान निवासी प्रवीन पंजेटा ने सदर जगाधरी थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि आठ मार्च को उनके पास वाट्सएप पर काल आई। काल करने वाले ने खुद का परिचय पंजाब के अमृतसर से राणा प्रताप के रूप में दिया।

आरोपित ने कहा कि उनका वाट्सएप नंबर बहुत लकी है। जिस वजह से उसकी केबीसी में 25 लाख रुपये की लाटरी लगी है। यह पैसे प्राप्त करने के लिए उसे जीएसटी व अन्य फंड भरने हाेंगे। आरोपित ने उन्हें बातों में उलझा लिया। झांसे में आकर उसने अपने मोबाइल से ई-वॉलेट के जरिए आरोपित के खाते में 30 हजार रुपये जमा करा दिए।

अगले दिन आरोपित ने दोबारा काल की और कहा कि कुछ और फंड बकाया है। उसे जमा करा दें। जिसके बाद उसे 25 लाख रुपये मिल जाएंगे। इस तरह से आरोपित ने उसे बातों में उलझाकर एक लाख दो हजार रुपये ले लिए। जब पैसे के बारे में कहा, तो आरोपित ने बैंक में फाइल भेजने की बात कही। इसके अगले दिन कर्ण सिंह नाम के व्यक्ति का उसके पास फोन आया।

आरोपित ने उसे कहा कि वह पंजाब नेशनल बैंक से बोल रहा है और उसकी फाइल आ गई है। यह पैसे प्राप्त करने के लिए उसे टैक्स के रूप में 60 हजार रुपये उसके अकाउंट में जमा करवाने होंगे। शक होने पर राणा प्रताप को काल किया, तो आरोपित ने उसे साफ तौर पर कहा कि उसके साथ धोखाधड़ी की गई है। इस बारे में कोई शिकायत मत करना। बाद में पीड़ित ने पुलिस को शिकायत दी। जिस पर केस दर्ज किया गया।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप