संवाद सहयोगी, ढांड (कैथल)। होनी-अनहोनी पर किसी का जोर नहीं होता। गांव कौल के युवक नरेंद्र के साथ हुई अनहोनी ने एक बार फिर इस कथन को बलवती कर दिया। नरेंद्र कुमार पंजाब के जिला संगरूर गांव बुलढ़ाणा में पंजाब नेशनल बैंक में मैनेजर के पद पर कार्यरत था। सोमवार को उसे मैनेजर से बतौर सीनियर मैनेजर प्रमोशन मिली थी।

अपने प्रोमोशन की खुशखबरी लेकर नरेंद्र अपने घर गांव कौल के लिए निकला। लेकिन, रास्ते में उसके साथ अनहोनी हो गई। दिन में मिली प्रमोशन की खुशी वह अपने परिवार के साथ नहीं मना सका और एक सड़क हादसे में उसकी मौत हो गई। घर पहुंचने से महज पांच मिनट पहले ही गांव कौल के समीप संतुलन बिगड़ने से कार पेड़ टकरा गई। गंभीर चोटें लगने के कारण चालक की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने घटना की इत्तेफाकिया कार्रवाई कर शव स्वजनों को सौंप दिया है।

संतुलन बिगड़ने से पेड़ से टकराई गाड़ी

प्राप्त जानकारी के अनुसार, सोमवार देर रात को गांव कौल निवासी नरेंद्र कुमार अपनी ब्रेजा गाड़ी लेकर पंजाब के जिला संगरूर के गांव बुलढ़ाणा से अपने घर आ रहा था। जब वह गांव कौल के पास पबनावा मोड पर पहुंचा तो गाड़ी का संतुलन बिगड़ गया और गाड़ी पेड़ से टकरा गई। इस हादसे में नरेंद्र की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल कैथल के शव गृह में रखवा दिया था। शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसके स्वजनों को सौंप दिया।

संगरूर में पीएनबी में मैनेजर था नरेंद्र

बता दें कि गांव कौल निवासी मृतक नरेंद्र कुमार पंजाब के जिला संगरूर गांव बुलढ़ाणा में पंजाब नेशनल बैंक में मैनेजर के पद पर कार्यरत था। नरेंद्र कुमार को सोमवार के दिन मैनेजर के पद से सीनियर मैनेजर की प्रमोशन मिली थी। नरेंद्र की मौत की सूचना मिलते ही पूरे गांव में मातम का माहौल नजर आया।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Edited By: Umesh Kdhyani