पानीपत/जींद, जेएनएन। जींद के अलेवा गांव में शराब के अवैध कारोबार को लेकर शराब ठेकेदार व उसके कारिंदो पर कुछ लोगों ने धारदार हथियारों से हमला कर दिया। हमलावरों ने सेल्समैन के एक हाथ को काट दिया, जबकि तीन लोगों के सिर पर हमला कर घायल कर दिया। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने घायलों के बयान पर दस लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

गांव अलेवा निवासी दीपक ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसका अलेवा व खांडा गांव के शराब ठेके हैं। उनके ठेकों पर कैथल के गांव पाडला निवासी गुरमित, गांव जामनी निवासी अशोक, अलेवा निवासी दीपक, गांव देवबन निवासी मनजीत, गांव सिवाहा निवासी नीटू सेल्समैन हैं। मंगलवार रात को शराब ठेके बंद करके अपनी गाड़ी में घर जा रहे थे। 

जब वह अलेवा के वाटर वर्कस के पास पहुंचे तो गाड़ी की रोशनी में अलेवा निवासी मोनू उर्फ मछरी, सोनू उर्फ मामडा, विक्रमजीत उर्फ विक्की,  राकेश उर्फ भरथू, अंकित, राकेश उर्फ मीगण, तरसेम उर्फ सेमी, अनिल कुमार, प्रवीन उर्फ पिना, मोहित उर्फ शेरा अपने अपने हाथों में धारदार हथियार लिए हुए दिखाई दिए। जब उनकी गाड़ी उनके पास पहुंची तो उन्होंने जबरदस्ती गाड़ी को रुकवा लिया। 

इसी दौरान मोनू उर्फ मछरी ने आवाज मारी तो कुछ युवक जलघर की तरफ से आए। जान बचाने के लिए सेल्समैन गुरमीत गाड़ी से नीचे उतरा तो मोनू उर्फ मछरी ने तलवार से उसके सिर पर वार करना चाहा, लेकिन गुरमीत ने सिर को बचाने के लिए दाहनी बाजू ऊपर कर ली और तलवार लगने से गुरमीत का हाथ कटकर जमीन पर गिर गया। इसके बाद दीपक, मनजीत, नीटू को भी गंभीर चोट आई। शोर मचाए जाने पर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे तो आरोपित मौके से फरार हो गए। पुलिस ने इस मामले में उपरोक्त आरोपितों को नामजद करके अन्य के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया है। 

अवैध रूप से शराब बेचने को लेकर हुए था विवाद

शिकायतकर्ता दीपक ने बताया कि अलेवा निवासी मोनू उर्फ मछरी अवैध शराब बेचने का काम करता है। दो माह पहले उन्होंने मोनू उर्फ मछरी को समझाया तो उसके साथ कहासुनी हो गई थी। उसके बाद से आरोपित रंजिश रखे हुए था। इसी रंजिश के चलते उस पर व उसके सेल्समैनों पर हमला किया है।

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप