जागरण संवाददाता, पानीपत : नुंह जिले के गांव ऊदाका में एडवोकेट नवीन यादव की हत्या के विरोध मे बार एसोसिएशन ने शुक्रवार को वर्क सस्पैंड रखा। बार काउंसिल ऑफ इंडिया के आह्वान पर हड़तालरत वकीलों ने आरोपितों की गिरफ्तारी और पीड़ित परिवार को मुआवजा की मांग की। बार एसोसिएशन प्रधान एडवोकेट शेर ¨सह खर्ब ने कहा कि वकील एक सामाजिक व्यक्ति होता है। उसे क्लाइंट का केस भी लड़ना होता है तो उसे भाईचारे में समझौते भी कराने पड़ते हैं। कुछ वर्षों में वकीलों पर हमले बढ़े हैं। पीड़ित को न्याय दिलाने वाले पर ही हमला होगा, उसकी जान ली जाएगी तो काम करना मुश्किल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जिले के वकील नवीन यादव के परिजनों के साथ हैं। मामले की सुनवाई नुंह जिला अदालत के बजाय गुरुग्राम की फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर तीन महीने में केस का निपटारा कराया जाए। परिजनों को न्याय नहीं मिला तो भविष्य में किसी भी प्रकार के आंदोलन के लिए तैयार हैं। बैठक को बार एसोसिएशन के सचिव गुर¨वद्र ¨सह, आनंद दहिया, ललित मित्तल, नरेंद्र कुमार आदि ने भी सम्बोधित किया। इस मौके पर एडवोकेट विजय मलिक, हरेंद्र मुदगिल, रामनरेश त्यागी, जितेंद्र कुमार, बसंत कुमार, जयपाल मलिक आदि मौजूद रहे। यह था मामला : नुंह के गांव ऊदाका में 15 जुलाई को जमशेद और अख्तर के बीच हुए झगड़े की शिकायत देने जाने के लिए जमशेद ने एडवोकेट नवीन से लिफ्ट मांगी थी। सोहना पहुंचकर नवीन अपने कार्य से और जमशेद थाने में शिकायत देने के लिए चला गया था। इसको लेकर अख्तर पक्ष नवीन से खफा था। इसी मामले में 19 जुलाई को गांव में पंचायत हुई और दोनों के बीच समझौता हो गया था। पंचायत खत्म होने के बाद नवीन अपने घर जा रहा था तो अख्तर पक्ष के लोगों ने उन पर जानलेवा हमला कर दिया था, बाद में उनकी मौत हो गई थी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप