जागरण संवाददाता, पानीपत : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पोषण माह कार्यक्रम के अंतर्गत देशभर में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, आशा वर्करों और एएनएम से वीडियो कांफ्रेंस से सीधा संवाद किया। आह्वान किया कि वे सभी राष्ट्र निर्माण के अग्रणी सिपाही हैं। देश की माताओं और शिशुओं की देखभाल की जिम्मेदारी उन सब पर है। सबको मिलकर कुपोषण के खिलाफ आवाज उठानी है और इसको दूर करना है। स्वच्छता और स्वास्थ्य का सीधा संबंध पोषण से है। इसके बाद आशा वर्करों ने दैनिक जागरण को बताया कि पीएम के संवाद के बाद उन्हें उत्साह मिला है। उन्हें काम करने की ऊर्जा मिली है।

लघु सचिवालय में इस वीडियो कांफ्रेंस के लिए एनआइसी की ओर से व्यवस्था की गई। वीसी में सीएमओ डॉ. नवीन सुनेजा, महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी सरला यादव, सभी सीडीपीओ और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के साथ आशा कार्यकर्ता और इस अभियान के जिला समन्वयक रितेश कोल भी मौजूद रहे।

प्रधानमंत्रत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में सबको सादर नमन किया और उनके कार्य में आने वाली चुनौतियों और अनुभवों को भावुकता के साथ सुना और उनका हौसला भी बढ़ाया। उन्होंने कहा कि अनीमिया रोग पर विजय प्राप्त करना हमारे लिए चुनौती है।

जिला समन्वयक रितेश कोल ने बताया कि प्रधानमंत्री की पहल पर इस विशेष अभियान की शुरुआत की गई है। गांव ¨सबलगढ़ में कार्यरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुदेश ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कासंबोधन सुनने से उनको प्रोत्साहन मिला है।

Posted By: Jagran