पानीपत, जेएनएन। लोग घरों में दुबके बैठे हैं तो कुछ लोग लॉकडाउन को कुछ भी नहीं समझ रहे। एक बदमाश के काम से कुछ ऐसा ही झलक रहा था। मगर उसकी दबंगई ज्‍यादा वक्‍त तक नहीं चल सकी और वह धरा गया। चालक का अपहरण कर कार व नकदी लूटने के आरोपित सोनीपत के पुरखास गांव के मोहित को देसी पिस्तौल सहित सीआइए-वन ने गिरफ्तार किया। किला थाना पुलिस ने आरोपित मोहित के खिलाफ मामला दर्ज कर अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया। मोहित लूट व अपहरण के केस में जमानत पर छूटकर आया था और उसे लूट की वारदात को अंजाम देने वाले अपने से जान का खतरा है, इसलिए वह पिस्तौल लेकर घूम रहा था।

सीआइए-वन के एसआइ राजबीर ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान वह भैंसवाल गांव के पास गश्त पर थे। तभी एक युवक पैदल आता दिखाई दिया। उसने युवक की तलाश ली तो देसी पिस्तौल मिली। आरोपित की पहचान पुरखास गांव के मोहित के रूप में हुई।  वह बबैल गांव से आया था।

 

तीन दोस्तों के साथ किया था कार चालक का अपहरण

17 अगस्त 2018 को रात एक बजे रेवाड़ी के टहनादियालपुर गांव का प्रवीन स्विफ्ट कार से अंबाल में एक व्यक्ति को छोड़कर घर लौट रहा था। तभी मोहित ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर टोल प्लाजा से प्रवीन से यह कहकर लिफ्ट ली उनकी कार खराब हो गई है। उन्हें समालखा जाना है। प्रवीन ने रोहतक गोहाना बाईपास के पास कार रोक ली और उन्हें ले जाने से मना किया। इनमें से एक युवक कार चलाने लगा और दोनों ने प्रवीन को पीछे की सीट पर खींचकर पीटा। उससे दो मोबाइल फोन, 6500 रुपये, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस व आधारल कार्ड लूटा और उसे सोनीपत के रहमाणा गांव के पास फेंक कर भाग गए। थाना शहर पुलिस ने मामला दर्ज करके बदमाशों को काबू कर लिया था।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस