जागरण संवाददाता, पानीपत : सेक्टर 11-12 निवासी रविदर ग्रोवर को दुकान से बाहर बुला हमला कर लहूलुहान कर दिया। उसकी जेब से 77 हजार रुपये की नकदी भी निकाल ली। आरोप है कि हमला बाप बेटे ने मिलकर किया।

सतविदर सिंह ग्रोवर ने किला थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि शनिवार को शाम साढ़े छह बजे के करीब अपनी दुकान पर बड़े भाई रविदर ग्रोवर, विक्रम मित्तल, गुरविदर सिंह उर्फ डा. बाली, तिलक नारंग व कारीगर मुश्ताक के साथ बैठा हुआ था। तभी अंकुश गुलाटी उनकी दुकान पर आया और उसके भाई रविदर को बाहर बुला किसी काम के बहाने जबरदस्ती अपनी दुकान पर ले गया। उसे अंकुश के बुलाने का तरीका ठीक नहीं लगा। ऐसे में उसने विक्रम मित्तल को उसके पीछे जाने को कहा।

विक्रम ने जाकर देखा तो रविदर ग्रोवर खून से लथपथ हालत में पड़ा था। वहां अंकुश अपने पिता पप्पू के साथ रविदर को बुरी तरह से पीट रहे थे। बाप-बेटे ने रविदर को पीट-पीटकर बेसुध कर दिया और उसकी पगड़ी तक फाड़ दी। आरोपितों ने जेब से 77 हजार रुपये भी जबरदस्ती निकाल लिए।

सतविदर के मुताबिक जब वो रविदर को अस्पताल लेकर जा रहे थे तो आरोपित बाप-बेटे ने दोबारा से दिखाई देने या मिलने पर जान से मारने की धमकी दी। किला थाना पुलिस ने मामले में अंकुश गुलाटी व उसके पिता के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Edited By: Jagran