जींद, जेएनएन। इनेलो के प्रधान महासचिव अभय चौटाला ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में किसानों को आंदोलनकारी जीव कहकर देशभर के किसानों का अपमान किया है। इसलिए अब अन्नदाता किसानों में जागृति लानी जरूरी है।

मंगलवार को पार्टी के युवा नेता सुखजिंद्र रेढू पप्पू मनोहरपुर के आवास पर पत्रकारों से बातचीत में अभय चौटाला ने कहा कि प्रधानमंत्री ने राज्यसभा में कहा कि एमएसपी था, अब भी है और आगे भी रहेगा। लेकिन पीएम की किसी बात पर अब जनता विश्वास नहीं कर सकती। क्योंकि उन्होंने यह भी कहा था कि हर गरीब को 15 लाख रुपये दिए जाएंगे, दो करोड़ युवाओं को रोजगार देंगे, किसानों के कर्जे माफ करेंगे और स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करेंगे। किसान को लागत मूल्य से 50 फीसदी ज्यादा भाव देंगे। लेकिन एक भी वादा पूरा नहीं किया। इसलिए अब किसान आंदोलन को तेज किया जाएगा।

इनेलो प्रदेश के 22 जिलों के सभी 90 हलकों में जनजागरण कार्यक्रम करेगी। दूसरे चरण में हर हलके के चार बड़े गांव कवर किए जाएंगे। सिरसा में 22 फरवरी को बड़ी किसान महापंचायत का आयोजन किया जाएगा, जिसमें राकेश टिकैत, बलबीर राजेवाल, गुरनाम चढूनी सहित हरियाणा व यूपी की खापों के नेताओं को भी आमंत्रित किया गया है। अभय चौटाला ने कहा कि किसान आंदोलन के कारण राज्यसभा में प्रधानमंत्री का चेहरा उतरा हुआ था। विपक्ष पर जिस तरह खुशनुमा माहौल में कटाक्ष करते थे, वह रौनक गायब थी। किसान आंदोलन से पीएम चिंतित हैं, लेकिन चार अमीर दोस्तों को खुश करने के लिए काले कृषि कानून वापस लेने की हिम्मत नहीं दिखा रहे हैं।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

ये भी पढ़ें : करनाल में पुलिस एनकाउंटर में मारा गया इनामी बदमाश, हत्‍या के मामले में थी तलाश