जींद, जेएनएन। गांव धरौदी में मारपीट करने से आहत एक युवक ने जहरीला पदार्थ निगलकर आत्महत्या कर ली। स्वजनों ने एक महिला सहित तीन लोगों पर प्रताड़ित करके आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है।

गांव धरौदी निवासी कुलदीप ने सदर थाना नरवाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि आठ जून को उनको पता चला कि उसके चाचा के लड़के 28 वर्षीय विक्रम ने जहरीला पदार्थ निगल लिया। जब वह अस्पताल में पहुंचे तो विक्रम बेसुध था और उसके पास गांव का ही विक्रम उर्फ विक्की वहां पर मौजूद थे। जहां पर आरोपितों ने कहा कि विक्रम ने गलती से जहरीला पदार्थ निगल लिया है।

इसी दौरान चिकित्सकों ने विक्रम की गंभीर हालात देखते हुए पीजीआइ रोहतक रेफर कर दिया, लेकिन पीजीआइ की बजाए वह कैथल के निजी अस्पताल में उपचार के लिए लेकर चले गए। जहां पर उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। उसके बाद पुलिस को उन्होंने आरोपित विक्की के बताए अनुसार बयान दिए। घटना के दो-तीन बाद विक्रम के फोन को चेक किया तो सामने आया कि उसके दो-तीन साल से गांव की एक महिला से अवैध संबंध थे। इसके बारे में गांव के ही सोनू, विक्रम उर्फ विक्की को पता चल गया। इसलिए छह जून की रात को आरोपित ने विक्रम को गांव के श्मशान घाट में ले जाकर उसके साथ मारपीट की। इससे पहले भी विक्रम के साथ मारपीट कर चुके थे।

बार-बार प्रताड़ित करने के चलते उसके भाई विक्रम ने जहरीला पदार्थ निगलकर आत्महत्या की है। उसने बताया कि आरोपितों के साथ गांव की महिला भी मिली हुई है। मामले के जांच अधिकारी एसआइ कृष्ण ने बताया कि सोनू, विक्रम उर्फ विक्की व एक महिला के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया है।

 

Edited By: Anurag Shukla