अंबाला, जेएनएन। मुलाना थाना पुलिस में आढ़ती समेत पांच के खिलाफ धोखे से जमीन व मकान हड़पने पर 48 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने का केस दर्ज किया है। यह मामला गांव गोला के किसान गुरमीत सिंह की शिकायत पर दर्ज किया गया। पुलिस ने किसान की शिकायत पर आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर तफ्तीश आरंभर कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में किसान गुरमीत सिंह ने बताया कि गांव गोला में 37 कनाल 15 मरला (पौने पांच एकड़) जमीन थी तथा वह इसी जमीन की फसल सालों से गांव साहा के आढ़ती प्रभूषण कुमार के पास डालता आ रहा है। इतना ही नहीं आढ़ती ने उनके बेटे से सिक्योरिटी की एवज में खाली हस्ताक्षर किए चेक बुक भी अपने पास रखी हुई है। किसान गुरमीत सिंह के मुताबिक आढ़ती प्रभूषण कुमार ने बैंक वालों से मिलकर उनका दस लाख रुपये का लोन करवाया था, तब आरोपित आढ़ती ने कहा था वह जल्द ही इस लोन को भरवा भी देगा। इस तरह वह आढ़ती की बातों में आ गया और विश्वास हो गया। इसके बाद आढ़ती प्रभूषण कुमार 3 नवंबर 2016 को मुलाना तहसील में रहननामा के लिये ले गया। आरोप है आढ़ती प्रभूषण कुमार ने धोखे से उसकी तीन एकड़ जमीन अपनी बहन डिंपी रानी गांव हेमा माजरा व भांजे साहिल के साथ मिलकर उसके अनपढ़ होने का फायदा उठाकर धोखा दिया।

इस तरह से हड़पी रकम

किसान गुरमीत सिंह का कहन है कि उनके रिश्तेदार मोहन सिह व दोस्त भूपिंद्र सिंह ने आठ नवंबर 2016 को उसकी 37 कनाल 16 मरले भूमि का इकरारनामा एक करोड़ सत्तरह लाख रुपये में जगमोहन लाल लिखवा लिया तथा 41 लाख रुपये एडवांस दिये। ऐसे में 15 अगस्त 2017 को जमीन की रिजस्ट्री तय की गई। इसके बाद पता चला जगमोहन ने तीन  एकड़ भूमि पहले ही डिम्पी व साहिल के नाम करवा रखी है।गुरमीत का कहना है आढ़ती ने उसकी जमीन का रहननामा करने की बात कही थी, लेकिन धोखे से बयाना करवा लिया। आरोप है बाद में आढ़ती इस बात पर राजी हाे गया कि वह इस जमीन को सीधे जगमोहन के नाम रजिस्ट्री करवा देगा और जगमोहन  से पेमेंट लेकर गुरमीत को देगा। मगर आढ़ती बाद में मुकर गया और अब जब आढ़ती पर दबाव बनाया गया तो वह जान से मारने की धमकी देने लगा। इस तरह आरोपितों ने साजिश रच उनके साथ 48 लाख रुपये की धोखाधड़ी की है।  पुलिस ने मामले में आढ़ती प्रभूषण कुमार, डिंपी, साहिल मोहन सिंह व भूपिंद्र सिं के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप