जागरण संवाददाता, पानीपत: जिले के 37 राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में अस्थायी मुखिया (प्रिसिपल) चुके हैं। अब स्कूलों की संभाल को लेकर लंबे समय से चल रहा संशय खत्म हो चुका है। लेकिन फिर भी जिले के 20 स्कूल ऐसे है। जिन्हें अभी भी मुखिया का इंतजार है। हालांकि नवनियुक्ति शिक्षकों को स्कूलों की कमान सौंपी हुई थी। परंतु अब इस सेशन में पूरी कमान इन्हीं प्राचार्य के हाथों में होगी।

बता दें कि जिले में 96 सीनियर सेकेंडरी स्कूल हैं। इनमें से 57 स्कूलों में प्रिसिपल के पद काफी समय से खाली थे। जहां अन्य शिक्षकों को कार्यवाहक के तौर पर पदभार सौंपा हुआ था। जिसके चलते स्कूल के विद्यार्थियों समेत स्कूल को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था। एक तरफ जहां शिक्षक के जिम्मे अन्य जिम्मेदारियां लगा दी गई थी। जिससे विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित हो रही थी। पिछले दिनों शिक्षा विभाग की ओर से जिले के 24 शिक्षकों को पदोन्नति दी गई थी। पदोन्नति देने के बाद उन्हें डीईओ कार्यालय में ज्वाइन करा दिया गया। अब करीब तीन माह बाद विभाग की ओर से उक्त नवनियुक्ति प्रिसिपलों के अलावा अन्य जिलों से आए 13 अन्य प्रिसिपल को भी जिले के स्कूलों में अस्थायी तौर पर स्कूल अलाट किए जा चुके हैं।

डीईओ रमेश कुमार का कहना है कि पीजीटी से पदोन्नति पाकर प्रिसिपल बनने वाले शिक्षकों को जिले के स्कूलों में अस्थायी नियुक्ति दी जा चुकी है। इससे स्कूल की शिक्षा व व्यवस्था में सुधार होगा। जिले के 37 राजकीय सीसे स्कूलों को मिला अस्थायी मुखिया

राजेश कुमार मिश्रा को राजकीय सीसे स्कूल पट्टीकल्याणा, साहब सिंह रंगा को पावटी, सतबीर सिंह को नारायणा, सुमनबाला को राजकीय कन्या सीसे स्कूल नौल्था, शारदा शर्मा को निजामपुर, राजेंद्र कुमार को हथवाला, रेखा गुप्ता को झट्टीपुर, राजेंद्र सिंह को डाहर, श्रीयंश को राजकीय कन्या सीसे स्कूल उरलाना कलां, अनिल कुमार को मछरौली, अजय कौशिक को कुराना, राज कृष्ण को वजीरपुर टिटाना, कंवरभान को सौंदापुर, सुनीता को बुड़शाम, आरती सलूजा को बड़ौली, कृष्ण दत्त को पसीना खुर्द, नरेंद्र कुमार को राक्सेड़ा, महेंद्र सिंह को नौहरा, सतनारायण धीमान को राक्सेड़ा, विनोद कुमार को बापौली, अंशुका को शेरा, निर्मला देवी को डाडोला, राजेश कुमार को बुआना लाखू, सुनीता को खोतपुरा, लक्ष्मी नारायण को वैसर, पवन अत्री को सनौली कलां, रामवीर पराशर को मांडी, राजकुमार को नामुंडा, राकेश कुमार को अलुपुर नैन, सुनील यादव को रेरकलां, प्रमोद कुमार को आट्टा, सुरेंद्र कुमार को उरलाना कलां, सुरेंद्र कादियान को मनाना, रजनी बाला को किवाना, महेश कुमार को कवी, सुदेश यादव को सींक व अनिल गोयल को राजकीय सीसे स्कूल अदियाना में लगाया गया है।

Edited By: Jagran