पानीपत, जागरण टीम। विजयादशमी के मौके पर पानीपत, अंबाला सहित हरियाणा के कई जिलों में धूमधाम से रावण दहन किया जा रहा है। पानीपत के नवांकोट गुरुद्वारे के पास कटारिया लैंड पर 70 फीट का रावण के पुतले का दहन हो गया। श्रीराम दशहरा कमेटी बरसत रोड की ओर से सेक्टर 13-17 के मैदान में रावण का कुनबा जलाया गया। श्री कृष्णा क्लब पानीपत ने कटारिया लैंड, सेक्टर 12 में 70 फीट का रावण, 65-65 फीट के कुंभकर्ण व मेघनाद के पुतले का दहन हुआ।

प्रदेश में सबसे ऊंचा रावण का पुतला बराड़ा में दहन किया गया। विशालकाय पुतले को क्रेनों की मदद से खड़ा कर दिया गया, जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग बराड़ा में पहुंचे। 

लिम्का बुक आफ रिकार्ड में अपना नाम दर्ज करवाने वाले श्री राम लीला क्लब बराड़ा द्वारा तीन वर्षो के अंतराल के बाद एक बार फिर बराड़ा में रावण के पुतले के दहन का कार्यक्रम तैयार किया है, जिसमें विश्व के सबसे 221 फुट ऊंचे रावण के पुतले का खिताब हासिल कर चुके श्री राम लीला क्लब बराड़ा अब की बार 100 फुट ऊंचे पुतले का दहन होगा। श्री राम लीला क्लब संस्थापक तेजेन्द्र चौहान ने बताया कि कोरोना महामारी और बराड़ा में मैदान की उपलब्धता नहीं होने की वजह से अभी रावण के पुतले के दहन का कोई इरादा नहीं था, लेकिन कस्बावासियों के दवाब के कारण उन्हें इस बार फिर रावण के पुतले के दहन का कार्यक्रम बनाया है।

एक महीना लगा पुतला बनाने में

100 फीट ऊंचे रावण के पुतले को बनाने में कारीगरों को लगभग एक महीने का समय लगा है।

जींद में छह बजे रावण दहन।

इस्‍माईलाबाद में रावण दहन।

पानीपत में रावण दहन के कार्यक्रम की तैयारी पूरी।

कैथल में मेल के दौरान निकले हनुमान स्‍वरूप।

Edited By: Anurag Shukla