जींद, जागरण संवाददाता। जींद के गांव डूमरखां कलां में दो पुत्रवधू द्वारा दहेज का मामला दर्ज करवाने से परेशान होकर एक अधेड़ ने जहरीला पदार्थ निगलकर आत्महत्या कर ली। मृतक की जेब से एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें दो पुत्रवधू, उसके माता-पिता व एक अन्य के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया हुआ है। पुलिस ने आत्महत्या के लिए लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया है।

गांव डूमरखां कलां निवासी दीपक ने नरवाना सदर थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसकी व उसके छोटे भाई विकास की 11 नवंबर 2016 को हिसार जिले के गांव सुंदरखेड़ा में हुई थी। उसकी शादी निर्मल से व छोटे भाई विकास की उर्मिला से शादी हुई थी। शादी के कुछ दिनों के बाद दोनों ने झगड़ा करना शुरू कर दिया और उनके खिलाफ कई बार थाने में शिकायत दी, लेकिन हर बार पंचायती तौर पर समझौता होने पर वापस आ जाती थी। पिछले दिनों भी उन्होंने उन पर केस कर दिया और समझौते के नाम पर उसने 50 लाख रुपये की डिमांड कर रहे थे।

बार-बार शिकायत देने से परेशान होकर उसके पिता सुखबीर ने 19 सितंबर शाम को जहरीला पदार्थ निगल लिया। जहर निगलने के बाद उसके पिता ने उसके पास फोन किया। जब वह घर पर पहुंचा तो उसका पिता तड़फ रहा था और वाहन का इंतजाम करके अस्पताल में लेकर गए। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसके पिता की जेब से एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें उसने अपनी पुत्रवधू निर्मल, उर्मिला, उसके पिता गांव सुंदरखेड़ा निवासी जयबीर, मां फुली देवी व शादी करवाने वाले बिचौलिया गांव सुरेवाला निवासी सूरजभान का नाम लिखा गया था और इन लोगों द्वारा बार-बार परेशान करने के आरोप लगाए गए हैं।पुलिस ने पांचों के खिलाफ आत्म्हत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया है।

Edited By: Anurag Shukla