जागरण संवाददाता, पानीपत : राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के तहत 22 से 28 फरवरी तक विशेष अभियान चलाया जाएगा। एक से 19 साल तक के मेल-फीमेल, 20 से 24 साल की युवतियों को एलबेंडाजोल (पेट के कीड़े मारने वाली) गोली खिलाई जाएगी। इस बार का लक्ष्य चार लाख 62 हजार 218 बताई है।

राष्ट्रीय बाल एवं किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के जिला नोडल अधिकारी डा. ललित वर्मा ने यह जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि एएनएम के नेतृत्व में आशा वर्कर्स डोर-टू-डोर एलबेंडाजोल खिलाएंगी। शत-प्रतिशत बच्चों-किशोरों और युवाओं को गोली खिलाना बड़ी चुनौती है। अभिभावकों का सहयोग जरूरी है। अभियान में 924 आशा वर्कर्स और 210 एएनएम की ड्यूटी लगाई गई है। जो बच्चे और प्रजनन आयु वर्ग की महिलाएं छूट जाएंगी उन्हें मॉप-अप दिवस (एक से तीन मार्च) को दवा खिलाई जाएगी। गर्भवती-स्तनपान कराने वाली महिलाएं टीम को जानकारी दें, उन्हें गोली नहीं खिलाई जाएगी।

खाली पेट गोली न खाएं। विभागीय टीमों को कोविड-19 की गाइडलाइन का भी पालन करना होगा। डा. वर्मा के मुताबिक पेट में कीड़े होने से शरीर में खून की कमी, कुपोषण, थकान जैसी दिक्कतें होती हैं।

कृमि संक्रमण से बचाव के तरीके :

-खुले में शौच न करें।

-नाखून छोटे और साफ रखें।

-शौच के बाद हाथों को साबुन से धोएं।

-भोजन से पहले हाथों को साबुन से धोएं।

-फल-सब्जियों को साफ पानी से धोएं।

-भोजन को ढक कर रखें।

-घर से बाहर जूते-चप्पल जरूर पहनें।

-शौचालय में भी चप्पल पहनकर जाएं।

-घर व आसपास सफाई रखें। आयु वर्ग संख्या

एक से दो साल 42640

तीन से पांच साल 81630

छह से दस साल 142550

11 से 19 साल 173285

20-24 साल की महिलाएं 22133

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021