मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

पानीपत/कैथल, [सुरेंद्र सैनी]। क्रिकेट और कबड्डी प्रीमियर लीग की तर्ज पर अब बॉक्सिंग लीग भी शुरू होने जा रही है। बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की तरफ से 20 अक्टूबर से शुरू होकर 9 नवंबर को समापन किया जाएगा। इसमें छह टीमों को शामिल किया जाएगा। हर टीम में छह विदेशी बॉक्सरों भी खेलेंगे। टीम में शामिल बॉक्सरों का पूरे विश्व से चयन करते हुए खरीदा जाएगा। महिला और पुरुषों की टीमें होंगी। 21 दिनों में 90 मुकाबले खेले जाएंगे। मुकाबले दिल्ली, गुवाहाटी और पुणे में खेले जाएंगे। उनका सीधा प्रसारण स्टार स्पो‌र्ट्स में होगा। फ्रेंचाइजी टीमें 28 अगस्त के बाद नीलामी के जरिये खिलाड़ियों को अपने साथ शामिल करेंगी। इस लीग के शुरू होने से बॉक्सिंग खेल की प्रतिभाओं को अपना पंच मजबूत करने का मौका मिलेगा। 

 इस तरह से होंगे मुकाबले
बॉक्सर मनोज के कोच राजेश कुमार ने बताया कि यह एमेच्योर बॉक्सरों के लिए विश्व की पहली लीग होगी। इसमें बाक्सर मनोज कुमार, अमित पंघाल, सचिन सिवाच, गौरव बिधुडी, मनीष कुमार, नमन तंवर, सतीश कुमार, मैरीकॉम, एल सरिता, सोनिया लाठर जैसे भारतीय नामी मुक्केबाज के अलावा 50 से ज्यादा इंटरनेशनल बॉक्सर इसमें शामिल होंगे। 

लीग में सात वेट कैटेगिरी में मुकाबले
पुरुषों के लिए पांच वेट वर्ग, 52 किग्रा, 57 किग्रा, 69 किग्रा, 75 किग्रा, 91 किग्रा जबकि महिलाओं के लिए दो वर्ग 51 किग्रा और 60 किलोग्राम भार वर्ग रखा गया है। हर टीम में 14 बॉक्सर शामिल किए जाएंगे। इसमें 10 पुरुष और चार महिला मुक्केबाजी होंगी। हर मुकाबला तीन राउंड और तीन मिनट का होगा। दो टीमों के बीच पांच अलग-अलग भार वर्ग के पांच मुकाबले खेले जाएंगे। सबसे ज्यादा मुकाबले जीतने वाला बॉक्सर विजयी होगा। 

बॉक्सिंग को मिलेगा बढ़ावा
ओलंपियन बॉक्सर मनोज कुमार ने बताया कि इस लीग का उन्हें लंबे समय से इंतजार था। इन मुकाबलों का हिस्सा बनकर वे बहुत ही उत्साहित होंगे। इससे बॉक्सिंग खेल की प्रतिभाओं को बढ़ावा मिलेगा। काफी प्रतिभाएं उभरकर सामने आएंगी। युवाओं में क्रिकेट और कबड्डी की तरफ बॉक्सिंग के प्रति भी रुझान और ज्यादा बढ़ेगा।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप