जागरण संवाददाता, पानीपत : कुशन सिलाई का काम करने वाले तीर्थ प्रकाश से फौजी बने ठग ने बाइक बेचने के बहाने 28,500 रुपये ठग लिए। एक माह तक भी थाना मॉडल टाउन पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की तो मामले की शिकायत आइजी करनाल को दी। इसी दौरान ठग ने गढ़ी सिकंदरपुर के प्रदीप से 20 हजार 100 और एक अन्य से लगभग 68 हजार रुपये की ठगी कर ली। अब थाना मॉडल टाउन पुलिस ने अज्ञात आरोपित के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

अर्जुन नगर के तीर्थप्रकाश ने बताया कि ओएलएक्स पर उन्होंने एक स्पलेंडर प्लस बाइक देखी थी। उस पर मिले नंबर पर कॉल किया तो ठग ने खुद को अमृतसर आर्मी कैंट का जवान बताया। 25 हजार रुपये की मोटरसाइकिल डिलीवरी समेत साढ़े 28 हजार में बेचने का सौदा तय किया। ठग ने उसे झांसे में लेने के लिए अपनी और सरकारी दस्तावेजों की फोटो भेजी। एक पेटीएम अकाउंट नंबर को हेड ऑफिस का नंबर बताते हुए चार बार में 28,500 रुपये ट्रांसफर करा लिए। रुपये ट्रांसफर कराने के बाद ठग बाइक का आर्मी इंश्योरेंस करवाने की बात कहकर 13 हजार रुपये और मांगने लगा। शक होने पर रुपये देने से इन्कार कर दिया। आरोपित इंश्यारेंस के रुपये नहीं देने पर आर्मी हेडक्वार्टर में ऑनलाइन शिकायत कराने की धमकी देने लगा। अपने दोस्त के नंबर से पेटीएम अकाउंट वाले नंबर पर कॉल कराई तो रवि तोमर नाम के व्यक्ति से बातचीत हुई। उसने खुद के पानीपत अनाज मंडी में कामकाज में व्यस्त होने की बात कहकर फोन काट दिया।

केस दर्ज होता तो बच जाते प्रदीप के 20100 रुपये

तीर्थप्रकाश की शिकायत पर अगर मॉडल टाउन थाना पुलिस ने तुरंत कार्रवाई कर केस दर्ज कर दिया होता तो शायद गढ़ी सिकंदरपुर के प्रदीप के 20100 रुपये बच जाते। ओएलएक्स पर ही बाइक देख रहा प्रदीप भी ठग की बातों में आ गया। ठग ने बाइक बेचने के बहाने उससे 20100 रुपये अपने खाते में ट्रांसफर करा लिए। वहीं दूसरा साथी बाइक डिलीवरी करने से पहले 11 हजार रुपये और मांगने लगा। प्रदीप ने 25 हजार में सौदा होने और बाकि रकम मोटरसाइकिल मिलने पर ही देने की बात कही, तो आरोपित गाली-गलौज पर उतर गया। इसी तरह ठग ने एक अन्य व्यक्ति से भी 68 हजार रुपये ठग लिए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप