मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जेएनएन, यमुनानगर। पहाड़ी व मैदानी क्षेत्रों में लगातार बारिश से हरियाणा में बहने वाली नदियों में बाढ़ आ गई। अब तक अधिकतम बहाव 707786 क्यूसेक रहा। यमुना व सोम नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण क्षेत्र के लोगों में हड़कंप मच गया। प्रशासन ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है। रविवार दोपहर तक नदियों का पानी कई गांवों में पानी फैलना शुरू हो गया। 72 घंटे के बाद यह पानी तबाही मचाते हुए दिल्ली तक पहुंचेगा।

नदियों का जलस्तर सुबह करीब पांच बजे से जलस्तर बढ़ना शुरू हो गया था। क्षेत्र में चर रहे जंगली व 4 पालतू पशु यमुना नदी में बह गए। उधर, मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक बारिश अभी जारी रहेगी। ऐसे में नदियों का जलस्तर और भी बढ़ने की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता।

अगस्त माह में पहली बार इतना पानी

गत सात वर्ष का रिकार्ड देखा जाए तो अगस्त माह में अब तक का रिकार्ड टूट गया है। अगस्त 2015 व 16 में यमुना ऊफान पर आई, लेकिन एक लाख 60 हजार क्यूसेक से अधिक बहाव नहीं रहा।

कब कितना रहा पानी का बहाव

  • 4 अगस्त 2012 को 98803 क्यूसेक
  • 17 जून 2013 को 806464 क्यूसेक
  • 16 अगस्त 2014 को 128339 क्यूसेक
  • 16 अगस्त 2015 को 101360 क्यूसेक
  • अगस्त 2016 को 159219 क्यूसेक
  • 2 सितंबर 2017 को 147212 क्यूसेक
  • 28 जुलाई 2018 को 605949 क्यूसेक

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप