मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, पंचकूला: खंड कार्यालय मोरनी में कार्यरत ग्राम सचिव सुधीर कुमार के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है। खंड मोरनी की ग्राम पंचायत बालदवाला के संरपच नरेश कुमार ने पुलिस को शिकायत में बताया कि ग्राम सचिव सुधीर कुमार ने उसकी जानकारी के बिना ग्राम पंचायत की पीआरआइ स्कीम से राशि का गबन किया। सरपंच के अनुसार सुधीर कुमार ग्राम सचिव से जनवरी 2019 में पीआरआइ की कापी चेक बुक व रिकार्ड आडिट करवाने के लिए लेकर गया था। आडिट के बाद उसने चेक बुक में से कई चेक चोरी से अपने पास रख लिए, जिसका सरपंच को पता नहीं चला। जब सरपंच ने 11 जुलाई 2019 को बैक में नाले निर्माण हेतु मजदूरों के लिए पैसे निकलवाकर पासबुक पर एंट्री करवाई तो पता चला कि सुधीर कुमार ने 18 जनवरी 2019 को 49 हजार रुपये, 4 फरवरी 2019 को 80 हजार रुपये, 29 मार्च को 90 हजार रुपये व 2 अप्रैल को 95 हजार रुपये, 19 अप्रैल को 3,08935 से विशाल धीमान को 95 हजार रुपये चेक द्वारा एवं 23 अप्रैल को चेक से 90 हजार रुपये की राशि निकाली थी। जिन पर सरपंच के हस्ताक्षर नहीं किए थे। जनवरी 2019 से 31 मई तक सरपंच द्वारा कोई राशि इस खाते में से नहीं निकलवाई गई थी। सरपंच ग्राम पंचायत बालदवाला ने मांग की है कि आरोपित सुधीर कुमार ग्राम सचिव के विरुद्ध कार्रवाई करके पंचायत की राशि ब्याज सहित रिकवर करवाई जाए। सरपंच ने सुधीर कुमार ग्राम सचिव के विरुद्ध धोखाधडी, सरकारी पैसे का गबन करने का आरोप लगाया। चंडीमंदिर पुलिस ने धारा 409, 420 के तहत केस दर्ज कर लिया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप