नई दिल्ली, [बिजेंद्र बंसल]। हरियाणा की नई भाजपा-जजपा कैबिनेटक के विस्तार के लिए अभी और इंतजार करना होगा। पहले माना जा रहा था कि अयोध्या में रामजन्म भूमि पर फैसला आने से पहले मंत्रिमंडल विस्तार हो जाएगा। खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दैनिक जागरण से अनौपचारिक मुलाकात में भी इसके संकेत दिए थे। लेकिन अयोध्या फैसले को शनिवार को आने के कारण अब इसमें कुछ विलंब हो सकता है। एक बात यह भी है कि 13 नवंबर तक प्रदेश के राज्यपाल भी नहीं हैं, इसलिए इस दौरान नए मंत्रियों को शपथ भी दिलाने में व्यवधान आएगा। इसलिए फैसला आने के बाद ही इसकी तिथि तय होगी।

बता दें कि मंत्रिमंडल विस्तार का पूरा खाका तैयार है, केवल मुख्यमंत्री की भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से चर्चा ही शेष है। प्रदेश में भाजपा और जजपा गठबंधन की सरकार बनी है इसलिए दोनों दलों के बीच बनी न्यूनतम साझा कार्यक्रम समिति के प्रस्तावों को क्रियान्वित किए जाने से लेकर मंत्रियों के विभागों पर भी हाईकमान से सहमति ली जानी है। मुख्यमंत्री विधानसभा का विशेष सत्र समाप्त होने के बाद बुधवार शाम से ही नई दिल्ली में हैं। महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट के कारण मुख्यमंत्री की पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात नहीं हो पाई है।

राज्यपाल से भी मुलाकात कर चुके हैं मुख्यमंत्री

राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य के घर पर मांगलिक कार्य है, इसलिए वे फिलहाल अपने गृह राज्य बिहार में हैं। इससे पहले मुख्यमंत्री ने उनसे गुरुवार शाम नई दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में करीब 30 मिनट तक मंत्रिमंडल विस्तार के संबंध में चर्चा भी की थी। सूत्र बताते हैं कि मुख्यमंत्री ने राज्यपाल से अगले चार दिनों में कुछ समय के लिए शपथ ग्रहण समारोह में चंडीगढ़ आने संबंधी आग्रह पर भी चर्चा की थी। वैसे राज्यपाल को 13 नवंबर को वापस लौटना है।

एक और विस्तार के लिए रखी जाएगी गुंजाइश

मनोहर मंत्रिमंडल में तय मानक के अनुसार 14 मंत्री बन सकते हैं, लेकिन विस्तार के बाद भी एक और विस्तार की गुंजाइश छोड़ी जाएगी। इसलिए यह माना जा रहा है कि जातीय,क्षेत्रीय और गठबंधन दल के समीकरणों के तहत विस्तार करने के बाद अगले विस्तार का खाका तैयार किया जाएगा। इस संबंध में मुख्यमंत्री  भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा,राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष के साथ दो दौर की बातचीत कर चुके हैं।

सीएम ने राष्ट्रीय अध्यक्ष के समक्ष मंत्रियों की फाइनल सूची रखने से पहले ही प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला व प्रदेश संगठन महामंत्री सुरेश भट्ट के माध्यम से प्रदेश के पार्टी संगठन और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ शीर्ष पदाधिकारयिों की भी मुहर लगवा ली है। उप मुख्यमंत्री और सहयोगी दल जजपा के नेता दुष्यंत चौटाला ने मुख्यमंत्री को पहले ही दौर की बैठक में अपने हिस्से के मंत्रियों के नाम दिए हुए हैं।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: Navjot Singh Sidhu : पाक जाने केे लिए मिली Political clearance, तीसरी चिट्ठी के बाद विदेश मंत्रालय ने दी इजाजत



यह भी पढ़ें: Honeypreet Insan Bail के बाद डेरा सच्‍चा सौदा में फिर हुई सक्रिय, पुलिस फिर घेरने की तैयारी में

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप