जेएनएन, चंडीगढ़। हैदराबाद की पशु चिकित्सक से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के बाद जलाने के चारों आरोपितों की पुलिस encounter में मौत का मामला सियासी गलियारों से लेकर social media पर खूब गूंजा। encounter के समर्थन में Whatsapp, Twitter और Facebook पर सुबह से ही Message viral होने शुरू हो गए थे जो देर रात तक चले। कई स्थानों पर स्कूल-कॉलेज की छात्राओं ने नाच-गाकर खुशी का इजहार किया। वहीं ओलंपियन पहलवान गीता फौगाट ने इस encounter पर Tweetकरते हुए 'वी सैल्यूट यू हैदराबाद पुलिस' लिखा है।

महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि दोषी भागेगा तो पुलिस का काम उसे पकड़ना है। ऐसी स्थिति में कुछ भी संभव है। हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि दुष्कर्मियों के प्रति कोई ढिलाई नहीं बरती जानी चाहिए। कानून पहले से ही सख्त है। बस इसे सही मायने में लागू किया जाए। कैबिनेट मंत्री जयप्रकाश दलाल ने कहा कि हैदराबाद encounter सभी के लिए मैसेज है कि कानून से कोई नहीं बच सकता। किन परिस्थितियों में encounter हुआ, यह अलग विषय है।

हरियाणा महिला आयोग की वाइस चेयरपर्सन प्रीति भारद्वाज ने कहा कि जो भी हुआ, उससे देश की जनता में खुशी है, संतुष्टि है। कुछ लोगों की दोहरी मानसिकता पर सवाल उठाते हुए हुए उन्होंने कहा कि पहले जहां यह लोग पुलिस को भ्रष्ट बताते थे। अब जब पुलिस ने encounter कर दुष्कर्मियों को मौत के घाट उतार दिया तो उन्होंने किसी प्रोसीजर या किसी प्रक्रिया के तहत ठीक ही किया होगा।

इनेलो के वरिष्ठ नेता व विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि हैदराबाद की घटना ने तमाम देश व प्रदेशवासियों को झकझोर कर रख दिया है। सख्त से सख्त सजा दिलाने के लिए जगह-जगह पर प्रदर्शन हो रहे हैं। सरकार और कोर्ट को जनमानस चेता रहा है कि अगर निर्भया कांड के दोषियों को तुरंत सजा दी जाती तो शायद महिलाओं के विरुद्ध दुष्कर्म की घटनाओं में कुछ कमी आ जाती।

नेताओं के ट्वीट

हैदराबाद पुलिस के इस निर्णय से आज पूरा देश खुशी मना रहा है। देश की महिलाओं में आज एक अलग तरह की सकारात्मक ऊर्जा का उदय हुआ है। -बबीता फौगाट, अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान व भाजपा नेता।

----

यह सिर्फ दुष्कर्म नहीं, सामूहिक दुष्कर्म था। हत्या ही नहीं, बेरहमी से उसे जिंदा जला दिया गया। आरोपित पक्के वही हैं तो यह encounter सही है। जो दुष्कर्मियों पर दया कर रहे हैं, जब उनके अपने पर ऐसा गुजरे तो क्या दया कर लें? -नवीन जयहिंंद, हरियाणा आप के प्रधान।

---

जनवरी से अक्टूबर तक प्रदेश में 1396 दुष्कर्म व 150 सामूहिक दुष्कर्म

दिल दहलाने वाले खौफनाक हादसे,

दरिंदगी व बहशीपन की नित नई दास्तान,

जघन्य अपराध और नाकाम हुक्मरान,

बेटियों की सुरक्षा कौन करेगा भगवान?

- रणदीप सुरजेवाला, कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी

---

प्रदेश सरकार महिलाओं के विरुद्ध अपराध के न्यायालयों में लंबित पड़े मामलों की पैरवी करके दोषियों को सजा दिलवाने का काम करे। कानून में ऐसा प्रावधान करना चाहिए कि न्यायालय समयबद्ध फैसला करके दोषियों को ऐसा दंड दें जिससे असामाजिक तत्वों में खौफ पैदा हो। दुष्कर्मियों की गिरफ्तारी के सात दिन के अंदर पुलिस न्यायालय में चार्जशीट दाखिल करे। - अभय सिंह चौटाला, इनेलो विधायक

हैदराबाद encounter से कानून पर भरोसा बढ़ा : कुमार विश्वास

हैदराबाद में सामूहिक दुष्कर्म के बाद महिला डॉक्टर की हत्या करने के चारों आरोपितों को पुलिस ने encounter में मार गिराया तो देशभर में इसकी चर्चा हुई। इससे अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव भी अछूता नहीं रहा। महोत्सव के तहत आयोजित कवि सम्मेलन में पहुंचे कवियों ने encounter को सही ठहराया। कुमार विश्वास ने कहा कि हैदराबाद में चारों अपराधियों को मारना प्रशंसनीय कार्य है। इस घटना से आम आदमी का कानून पर भरोसा बढ़ गया है। आज अगर कहीं द्रोपदी चीरहरण होता है तो क्यों नहीं कोई भीम गदा उठाता, क्यों नहीं कोई अर्जुन गांडीव उठाता।

निर्भया फंड के सही इस्तेमाल की वकालत

महिलाओं की सुरक्षा के लिए केंद्र सरकार द्वारा दिए गए निर्भया फंड को हरियाणा में सही तरीके से इस्तेमाल नहीं होने पर इनेलो ने सवाल उठाए हैं। गैर सरकारी संगठन के अनुसार वर्ष 2017 से जनवरी 2018 तक महिला विरुद्ध अपराध के 9196 मामले दर्ज हुए हैं। दुष्कर्म के 1016 और छेड़छाड़ के 2041 मामले दर्ज किए गए। केंद्र सरकार ने महिलाओं के विरुद्ध अपराध रोकने के लिए 16.71 करोड़ रुपये प्रदेश सरकार को दिए थे जिसमें से सिर्फ 6.6 करोड़ रुपये ही खर्च किए गए।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस