जेएनएन, पंचकूला। हरियाणा में प्रत्यक्ष तरीके से छात्र संघ चुनाव बहाली की मांग को लेकर इंडियन नेशनल स्टूडेंट ऑर्गनाइजेशन (इनसो) और इंडियन नेशनल स्टूडेंट यूनियन इंडिया (एनएसयूआइ) ने मंगलवार को पंचकूला में रोष प्रदर्शन किया। छात्र संगठन हरियाणा विधानसभा के घेराव की तैयारी में थे। लेकिन, जैसे ही उन्होंने पंचकूला से चंडीगढ़ सीमा में प्रवेश किया पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया। इस दौरान छात्रों पर बल प्रयोग भी किया गया। पुलिस ने छात्रों को तितर बितर करने के लिए पानी की बौछारें व आंसू गैस के गोले भी छोड़े।

पंचकूला में प्रदर्शन करते छात्र नेता।

प्रदर्शन की अगुवाई इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने की। इस अवसर पर एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष दिव्यांशु बुद्धिराजा भी मौजूद थे। दोनों नेताओं ने मनोहर लाल सरकार से प्रदेश में छात्रसंघ चुनाव तुरंत बहाल करने की मांग की। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने उनकी मांग पर गौर नहीं किया तो वे बड़ा आंदोलन करेंगे।

सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते छात्र।

दिग्विजय चौटाला ने कहा कि अगर सरकार प्रत्यक्ष चुनाव नहीं कराती तो उसकी कथनी और करनी में खोट स्पष्ट नजर आता है।

उन्होंने कहा कि चूंकि एबीवीपी का प्रदेश के किसी भी शैक्षणिक संस्थानों में कोई आधार नहीं है, जिसके चलते बीजेपी सरकार अप्रत्यक्ष चुनाव कराकर एबीवीपी को लाभ पहुंचाना चाहती है, जिससे कि वह प्रदेश के शैक्षणिक स्थानों में अपनी दक्षिणपंथी विचारधारा के एजेंडे को लागू कर सके।

प्रदर्शनकारियों पर पानी की बौछार छोड़ती पुलिस।

छात्र नेताओं ने कहा कि सरकार ने जो अप्रत्यक्ष चुनावों की घोषणा कि है वो छात्र समुदाय की मांगों के अनुरूप नहीं है। छात्र संगठन लंबे समय से प्रत्यक्ष तौर पर अपने प्रतिनिधि चुनने का अधिकार चाहता है और उसके लिए संघर्ष भी लगातार जारी है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt