जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा और पंजाब समेत देशभर में पढ़ रही नशे की प्रवृत्ति के खिलाफ छह राज्यों ने मिलकर लड़ाई लड़ने की पहल की है। नशे पर लगाम के लिए उपायों पर चर्चा के लिए इन छह राज्‍यों की बैठक यहां शुरू हो गई है। बैठक में हरियाणा,पंजाब, उत्‍तराखंड, हिमाचल प्रदेश, राजस्‍थान और उत्‍तर प्रदेश शामिल हो रहे हैं। यहां हरियाणा भवन में हो रही बैठक में नशे कारोबार पर राेक के लिए साझी रणनीति पर चर्चा हो रही है।

बैठक में हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनाेहरलाल, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर मौजूद हैं। बैठक में हिमाचल प्रदेश, राजस्‍थान और उत्‍तर प्रदेश के अ‍धिकारी मौजूद हैं। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का विमान उड़ान नहीं भर सका जिस कारण वह कॉन्फ्रेंस में नहीं आए। शिमला से ही वह वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कॉन्फ्रेंस में भागीदारी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान जाकर नवजोत सिंह सिद्धू को याद आए अटल, जानिए- क्या कहा

दिल्ली के मुख्यमंत्री इस कांफ्रेंस में शामिल नहीं हुए हैं। बताया जा रहा कि उन्हें निमंत्रण ही नहीं भेजा गया था लेकिन पहले उनके आने की चर्चाएं थी। कॉन्फ्रेंस में छह राज्यों के गृह सचिव और पुलिस महानिदेशक भी भागीदारी कर रहे हैं। मुख्यमंत्रियों की बैठक से पंजाब के सीएम ने पूर्व कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एसटीएफ चीफ हरप्रीत सिद्धू और सीएमओ के अधिकारियों के साथ बैठक की।

उत्‍तरी राज्‍यों की बैठक से पहले पंजाब के अफसरों के साथ बैठक करते सीएम अमरिंदर सिंह।

यह भी पढ़ें: पाक आर्मी चीफ को झप्‍पी देना सिद्धू पर पड़ा भारी, अब दे रहे सफाई, कैप्‍टन भी हुए गरम

बैठक में हरियाणा और पंजाब समेत देशभर में पढ़ रही नशे की प्रवृत्ति के खिलाफ छह राज्यों ने मिलकर लड़ाई लड़ने की पहल की है। हरियाणा की मेजबानी में हो रही उत्तर भारत के राज्यों की इस बैठक में नशे के खिलाफ एकजुट होकर लड़ाई लड़ने के लिए रणनीति तैयार की जाएगी। बैठक में ड्रग तस्‍करों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के लिए सामूहिक कदम उठाने, एक राज्‍य से दूसरे राज्‍य में ड्रग तस्‍करी रोकने और युवाओं को नशे के सौदागरों से बचाने पर चर्चा हो रही है। इसके लिए संयुक्‍त रणनीति तय कर उसे लागू किया जाएगा। बैठक में इस संबंध में इन राज्‍यों की पुलिस के बीच बेहतर समन्‍वय व सहयोग का रोडमैप भी तैयार किया जा रहा है।

ड्रग के मुद्दे पर उत्‍तरी राज्‍यों की चंडीगढ़ में आयोजित बैठक का दृश्‍य।

बता दें कि पंजाब और हरियाण समेत इन सभी राज्‍यों कर सीमाएं आपस में सटी हुई हैं। पंजाब के बाद हरियाणा और अन्‍य राज्‍य भी नशे की चपेट में आ रहे हैं। नशे के कारोबारी पंजाब के बाद इन राज्‍यों की ओर रुख कर रहे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने ड्रग का कारोबार रोकने के लिए हरियाणा सहित अन्‍य राज्‍यों से सहयोग मांगा था। इसके बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने उत्तर भारत के राज्यों की कॉन्फ्रेंस बुलाने की बड़ी पहल की है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


 

Posted By: Sunil Kumar Jha