राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। हरियाणा के 1986 बैच के सीनियर आइएएस अधिकारी संजीव कौशल अब प्रदेश के नए मुख्य सचिव होंगे। निवर्तमान मुख्य सचिव विजयवर्धन के सेवानिवृत होने की वजह से यह पद खाली हुआ था। संजीव कौशल हरियाणा के 35वें और मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सरकार के पांचवें मुख्य सचिव होंगे। संजीव कौशल मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव भी रह चुके हैं। उनकी गिनती प्रदेश के सुलझे हुए अधिकारियों में होती है।

कौशल सीएम मनोहर लाल के भरोसेमंद अधिकारी हैं। मुख्य सचिव व वित्तायुक्त की नियुक्ति करते हुए प्रदेश सरकार ने अधिकारियों की वरिष्ठता को ध्यान में रखा है। विजयवर्धन 12 माह तक मुख्य सचिव के पद पर रहने के बाद रिटायर हुए हैं। प्रदेश सरकार उन्हें किसी आयोग की जिम्मेदारी सौंप सकती है। मुख्य सचिव पद की दौड़ में शामिल संजीव कौशल सबसे सीनियर अधिकारी हैं।

हरियाणा सरकार ने 1985 बैच के दूसरे सीनियर अधिकारी पीके दास को नया वित्तायुक्त एवं राजस्व तथा आपदा प्रबंधन विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव बनाया है। दास को चकबंदी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव की भी जिम्मेदारी सौंपी गई है। दास की गिनती भी सुलझे हुए बेहतरीन अधिकारियों में होती है। संजीव कौशल के भाई सर्वेश कौशल पंजाब सरकार में मुख्य सचिव रह चुके हैं।

संजीव कौशल को प्रदेश सरकार ने मुख्य सचिव के अलावा सामान्य प्रशासन विभाग, संसदीय कार्य मामले, विजिलेंस, प्रशासनिक सुधार विभाग तथा योजना समन्वय विभागों की भी जिम्मेदारी सौंपी है। संजीव कौशल बुधवार को कार्यभार ग्रहण करेंगे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की गुड बुक में रहने वाले कौशल उनके प्रधान सचिव पद पर रहते हुए अच्छे नतीजे दे चुके हैं। अभी तक संजीव कौशल प्रदेश के वित्तायुक्त एवं राजस्व व आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव तथा पीके दास बिजली विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव के पद पर कार्यरत थे। संजीव कौशल के मुख्य सचिव बनने से राज्य की अफसरशाही में खुशी का माहौल है।

Edited By: Kamlesh Bhatt