चंडीगढ़, जेएनएन। कबूतरबाजी की घटनाओं पर नकेल कसने के लिए प्रदेश सरकार ने करनाल रेंज की आइजी भारती अरोड़ा की अगुवाई में सात सदस्यीय विशेष जांच समिति (एसआइटी) बनाई है। यह एसआइटी विदेश में भेजने के नाम पर की गई धोखाधड़ी एवं कबूतरबाजी के अभी तक के तमाम मामलों की जांच करेगी।

करनाल रेंज की आइजी भारती अरोड़ा को कमान, खंगाले जाएंगे तमाम पुराने केस

इस एसआइटी में आइपीएस नाजनीन भसीन, राहुल शर्मा, हिमांशु गर्ग, लोकेंद्र सिंह, शशांक कुमार तथा मोहित हांडा शामिल किए गए हैं। यह समिति  मानव तस्करी से जुड़े मामलों की भी गहनता से जांच कर एक्शन लेगी। एसआइटी में शामिल सभी आइपीएस अफसरों की गिनती महकमे के तेज-तर्रार अफसरों में होती है।

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने बताया कि  कबूतरबाजों के चंगुल में फंसे 135 और लोगों को अमेरिका ने मंगलवार को वापस भेजा है जिनमें से 75 लोग हरियाणा के हैं। इससे पहले 19 मई को भी अमेरिका द्वारा 73 लोगों को डिपोट किया गया था। कुल 73 एफआइआर दर्ज कर इनकी गहनता से जांच की जा रही है।

नाजनीन भसीन, राहुल शर्मा, हिमांशु गर्ग, लोकेंद्र सिंह, शशांक कुमार, मोहित हांडा एसआइटी में

विज ने कहा कि इस प्रकार के मामले अन्य देशों से भी हो सकते हैं। इसलिए हमने ऐसे सभी मामलों एवं फर्जीवाड़े की जांच के लिए एसआइटी बनाई है। इसके जरिये विदेश भेजने के नाम पर होने वाले फर्जीवाड़े पर अंकुश लगाया जाएगा। इससे पहले भी यदि कोई पीडि़त व्यक्ति इस प्रकार की धोखाधड़ी एवं फर्जीवाड़े का शिकार हुआ है तो वह एसआइटी से संपर्क कर सकता है।

गृह मंत्री ने कहा कि ऐसे पीडि़त लोगों की दास्तां बड़ी ही अमानवीय एवं दयनीय रही है जिन्हेंं नाजायज तरीके से अमेरिका भेजने के लिए जंगल तथा समुद्र के रास्तों का प्रयोग किया गया। इन लोगों को विदेश में भेजने के लिए ट्रक और कैंटर में लटका कर ले जाया जाता रहा तथा भूखे प्यासे रखते हुए अनेक प्रकार की यातनाएं दी गईं।

विज ने कहा कि विदेश से आने वाले सभी लोगों की पूरी जांच की जाएगी तथा उन्हेंं पंचकूला या अन्य किसी अस्पताल में क्वारंटाइन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एसआइटी कबूतरबाजी के किसी भी दोषी को नहीं बख्शेगी, लेकिन बेकसूर लोगों को परेशान नहीं किया जाएगा।

राजनीतिक कार्यक्रमों को नहीं इजाजत

 गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि कोरोना के कारण अभी कोई भी राजनीतिक गतिविधि करने की अनुमति नहीं है। शायद 8 जून के बाद इसकी मंजूरी मिल जाए। इनेलो विधायक अभय चौटाला के सिरसा में धरने पर उन्होंने कहा कि वे समझदार हैं। उन्हें कानून के मुताबिक चलना चाहिए। उन्हें आवाज उठाने का अधिकार है और वे किसी दूसरे तरीके से भी आवाज उठा सकते हैं।

पांच निजी लैब का डाटा नहीं खा रहा मेल

कोरोना मरीजों के बढ़ते मामलों पर विज ने कहा कि गुरुग्राम और फरीदाबाद में सर्वाधिक केस आ रहे जिसकी वजह दिल्ली है। गुरुग्राम की पांच निजी लैब का डाटा टेली नहीं हो रहा। दिल्ली की लैब में जो प्राइवेट टेस्ट हुए हैं, उनके एड्रेस नही मिल रहे। विज ने कहा कि 500-600 केस हैं जिनके एड्रेस या डिटेल नहीं मिल रही है। मामले को आइसीएमआर के समक्ष उठाया गया है।

यह भी पढ़ें: मास्‍क जरूर पहनें, लेकिन जानें किन बातों का रखना है ध्‍यान, अन्‍यथा हो सकता है हाइपरकेपनिया



यह भी पढ़ें: डॉलर की चकाचौंध भूल गए थे अपना वतन, अब गांव की मिट्टी में रमे पंजाब के युवा

 

यह भी पढ़ें: 100 लाेगों को जाना था औरंगाबाद, बैठा दिया अररिया की ट्रेन में, खाने को मिलीं चार पूडि़यां व चटनी


यह भी पढ़ें: खुद को मृत साबित कर US जाकर बस गया, कोरोना के डर से 28 साल बाद पंजाब लौटा तो खुली पोल

 

 


यह भी पढ़ें: दादी से मिलने मालगाड़ी से चला गया किशोर, दो माह तक लखनऊ में भटकता रहा, डीसी ने पहुंचाया


यह भी पढ़ें: कामगारों की छटपटाहट: भ्राजी, तुस्सी घर लौट आओ...बाबूजी हमहू चाहित है, कौनो व्‍यवस्‍था करावा


यह भी पढ़ें: वंडर गर्ल है म्‍हारी जाह्नवी, दुनिया भर के युवाओं की आइकॉन बनी हरियाणा की 16 की लड़की 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस