राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को भारतीय जनता पार्टी, जननायक जनता पार्टी और गठबंधन सरकार का समर्थन कर रहे निर्दलीय विधायकों ने पूर्ण समर्थन का भरोसा दिलाया है। शिरोमणि अकाली दल बादल के प्रधान सुखबीर बादल ने भी मुर्मू को समर्थन देने की घोषणा की।

द्रौपदी मुर्मू शुक्रवार को हरियाणा के सांसद-विधायकों का समर्थन जुटाने हरियाणा निवास पहुंची थीं। 18 जुलाई को राष्ट्रपति का चुनाव है। इसमें हरियाणा के एक विधायक के वोट की वेल्यू 112 और सांसद के वोट की वेल्यू 700 होगी। केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने सांसद-विधायकों को समझाया कि मतदान के दौरान कैसे सावधानी बरतनी है ताकि कोई गड़बड़ न हो।

राज्यसभा चुनाव की तर्ज पर मतदान होगा जिसमें किसी दूसरे पेन का इस्तेमाल नहीं करना है। बैठक में वोट डालने को लेकर अभ्यास भी किया गया।इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़, जजपा प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह ने द्रोपदी मुर्मू का स्वागत किया।

इस दौरान केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, संसदीय कार्य मंत्री कंवर पाल, भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री रितु राज सिन्हा, हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता, भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष वानाथी श्रीनिवासन के साथ ही पंजाब भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अश्वनी शर्मा उनके साथ थे।

मुर्मू ने अपने संघर्ष की कहानी सुनाते हुए बताया कि कैसे एक आदिवासी महिला को राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनाकर एनडीए ने अपनी नीति स्पष्ट कर दी है। आदिवासी महिला के रूप में उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि इस पद का उम्मीदवार बनाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मैंने महिला, गरीब, आदिवासियों के लिए काम किया है। जिंदगी में जो भी चुनौती आई है, उसे स्वीकार किया है और हमेशा अच्छा बनने का प्रयास किया है। मैं देश के लिए हमेशा काम करने के लिए तैयार थी, हूं और रहूंगी। पूरी उम्मीद है कि हरियाणा में भाजपा, जजपा के अलावा निर्दलीय उम्मीदवारों का समर्थन तो मिलेगा ही, इसके साथ-साथ अन्य पार्टियों के विधायक एवं सांसद भी उन्हें समर्थन देंगे।

गर्व की बात : सीएम

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि द्रौपदी मुर्मू का जीवन-संघर्ष और उनका परिश्रम अतुल्य है। इसी को देखते हुए एनडीए द्वारा उन्हें राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया गया है। यह हमारे लिए गर्व की बात है। राजनीति के साथ-साथ उनके पास समृद्ध प्रशासनिक अनुभव भी है।

मुख्यमंत्री ने उन्हें भरोसा दिलाया कि समर्थक संख्या के सभी वोट तो उन्हें मिलेंगी ही, इसके साथ-साथ अतिरिक्त वोट दिलाने का भी पूरा प्रयास करेंगे। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि वे ऐतिहासिक जीत के साथ राष्ट्रपति पद पर बैठेंगी। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ और निर्दलीय विधायक नयनपाल रावत ने कहा कि एनडीए के वोटों से ज्यादा वोट उन्हें मिलेंगे।

Edited By: Kamlesh Bhatt