जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा में विधानसभा चुनाव से पहले ही मौजूदा भाजपा सरकार के खिलाफ अविश्वास  प्रस्ताव लाने का माहौल तैयार किया जा रहा है। इसकी पहल पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने की है। एक तीर से दो निशाने साधते हुए हुड्डा ने मुख्य विपक्षी दल इनेलो के पाले में गेंद सरकाते हुए कहा कि संख्या बल के लिहाज से कांग्रेस विधायक कम हैं, इसलिए इनेलो को चाहिए कि लोगों के बढ़ते असंतोष को देखते हुए सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आए।

केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के बाद हरियाणा में अचानक इस तरह का माहौल चौकाने वाला है। मानेसर जमीन अधिग्रहण मामले में पेशी पर आए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा ने भाजपा व इनेलो पर जमकर हमले बोले। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव में इनेलो गायब हो जाता है और एसवाइएल नहर निर्माण के नाम पर गिरफ्तारियां देने का नाटक करता है। हरियाणा में भी यदि अविश्वास प्रस्ताव की बात आती है तो इनेलो सत्तारूढ़ भाजपा के साथ अपनी दोस्ती निभाने से खुद को नहीं रोक सकेगा।

हुड्डा ने भाजपा के किसान प्रेम पर सवाल उठाते हुए कहा कि अभी तक जितनी भी रैलियां हुई, उनमें एक भी किसान नहीं था। अधिकतर जगहों पर कुर्सियां खाली थी। मुख्यमंत्री दावा करते हैं कि उन्होंने ट्रैक्टर चलाए और खेतों में पानी लगाया, लेकिन रोहतक के जिस बनियानी गांव में मुख्यमंत्री की जमीन है, वहां पानी लगता ही नहीं। रही ट्रैक्टर चलाने की बात तो मैंने दिन रात ट्रैक्टर ही चलाए हैं।

हुड्डा ने अराजकता, बढ़ते अपराध तथा आंदोलनों के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि लोग इस सरकार से और सरकार लोगों से दुखी हो चुकी। मंत्री रामबिलास शर्मा और अनिल विज मान चुके कि प्रदेश में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हिंसा रोक पाने में सरकार विफल रही है। प्रकाश सिंह कमेटी की रिपोर्ट में भी यही तथ्य हैं। सरकार को इस रिपोर्ट के समस्त अंश सार्वजनिक कर प्रदेश से माफी मांगनी चाहिए।

हुड्डा ने इनेलो के एसवाइएल आंदोलन पर सवाल उठाते हुए कहा कि फर्जी गिरफ्तारी और रिहाई के खेल में इनेलो का भाजपा ने खुलकर साथ दिया है। हुड्डा ने आरोप लगाया कि केएमपी के किनारे जिन किसानों की जमीनें अधिगृहीत की गई थी, उन्हें रायल्टी नहीं दी जा रही। यदि कांग्रेस सत्ता में आई तो कर्मचारियों को पक्का करने की नीति को हूबहू लागू किया जाएगा।

मैं इनसे काबिल हूं, तभी तो सारे दुश्मन मेरे ही कायल हैं

भाजपा के हमलों से जुड़े सवाल का हुड्डा ने एक शेर के जरिये जवाब दिया। मुख्यमंत्री व कैप्टन अभिमन्यु के आरोपों पर हुड्डा ने कहा कि तारीफ की चाहत तो नाकामों की फितरत होती है, मैं इनसे काबिल हूं, तभी तो सारे दुश्मन मेरे ही कायल हैं।

जिसे विधायक चाहेंगे, वही बनेगा कांग्रेस में मुख्यमंत्री

हरियाणा कांग्रेस की आपसी खींचतान पर हुड्डा तटस्थ नजर आए। उत्साह से लबरेज हुड्डा ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष बनाने का अधिकार राहुल गांधी के पास है। कांग्रेस में मुख्यमंत्री के कई दावेदारों से जुड़े सवाल पर हुड्डा ने कहा कि यह फैसला हाईकमान को करना होता है, लेकिन हाईकमान उसे ही मुख्यमंत्री बनाता है, जिसे विधायक चाहते हैं।

हुड्डा ने पूछा कर्ज की राशि कहां खर्च कर रही सरकार

हुड्डा ने प्रदेश सरकार से हरियाणा पर बढ़े कर्ज का कारण पूछा है। उन्होंने कहा कि  कांग्रेस के राज में 70 हजार करोड़ का कर्ज था, जो अब बढ़कर 1 लाख 61 हजार करोड़ हो गया है। पिछले चार साल में राज्य में एक भी बड़ी परियोजना नहीं आई। फिर 90 हजार करोड़ रुपये का कर्ज कहां खर्च हुआ। उन्होंने जवाब दिया कि सारा पैसा इवेंट मैनेजमेंट पर खर्च किया जा रहा है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt