जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा में सभी विश्वविद्यालयों की फीस एक समान करने के लिए कुलपति मिलकर फार्मूला निकालेंगे। इसके अलावा विश्वविद्यालयों को फेसलेस (बिना देखे), पेपरलेस और कैशलेस बनाने के लिए अभियान तेज किया जाएगा।

चंडीगढ़ में कुलपतियों की बैठक में राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा कि विश्वविद्यालयों में एक ही कोर्स के लिए अलग-अलग फीस गलत है। कुलपति आपस में मिल-बैठकर ऐसा फार्मूला निकालें जिससे कि पूरे प्रदेश में विभिन्न कोर्सों के लिए सभी विश्वविद्यालयों में समान फीस हो। उन्होंने कहा कि आज का युग रिफार्म, परफार्म और ट्रांसफार्म का है। यदि सुधार के परिणाम नहीं आते तो पूरी प्रक्रिया बेकार है, इसलिए विश्वविद्यालय इस कसौटी पर खरा उतरने के लिए कमर कस लें।

उच्चतर शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित बैठक में प्रदेश में उच्चतर शिक्षा की स्थिति का आकलन कर भविष्य के विजन पर विचार-विमर्श किया गया। परिषद के अध्यक्ष प्रो. बीके कुठियाला ने कहा कि राज्य में उच्चतर शिक्षा की दशा काफी अच्छी है। हालांकि अभी हमें और आगे बढऩा है। उच्चतर शिक्षा विभाग की प्रधान सचिव ज्योति अरोड़ा और महानिदेशक अनुराग अग्रवाल ने कहा कि उच्चतर शिक्षा में लड़कियों की संख्या निरंतर बढ़ रही है। नियमित शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt