चंडीगढ़ [अनुराग अग्रवाल]। सोनिया गांधी की फैन हरियाणवी डांसर सपना चौधरी और भाजपा सांसद अश्विनी चोपड़ा के बीच तलखियां बढ़ गई हैैं। सोनिया और राहुल गांधी से मिलने पहुंची सपना चौधरी पर भाजपा सांसद अश्विनी चोपड़ा ने ऐसी टिप्पणियां की हैैं, जिससे सोशल मीडिया पर सपना और सांसद आमने-सामने आ गए। राजनीतिक गलियारों में दोनों की इस बहस पर खूब चुटकियां ली जा रही हैं। कांग्रेस खुलकर सपना के हक में खड़ी हो गई।

करनाल से पहली बार सांसद बने अश्विनी चोपड़ा ने अपनी टिप्पणी में कहा था कि कांग्रेस में ठुमके लगाने वाले ही ठुमके लगाएंगे। अब कांग्रेस को देखना है कि उन्हें ठुमके लगवाने हैं या फिर चुनाव लड़ना है। सांसद की यह टिप्पणी सपना चौधरी को लेकर थी, जिसमें सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर भी निशाने साधे गए हैं। उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से सपना चौधरी को ठुमके लगाने वाली कहा है।

सांसद ने यह टिप्पणी तब की, जब सपना चौधरी कांग्रेस नेताओं से मिलकर लौटी और उनके लिए प्रचार करने की इच्छा जताई। सांसद की टिप्पणी के बाद बिग बास फेम हरियाणवी डांसर सपना चौधरी के भी तलख बयान सामने आए। सपना ने अपने जवाब में गलत भाषा का इस्तेमाल नहीं किया, लेकिन सांसद को इशारों ही इशारों में काफी नसीहत दे डाली।

सपना चौधरी के अनुसार किसी भी व्यक्ति की राय उसकी सोच और मानसिकता पर निर्भर करती है। मुझे नहीं लगता कि वे मेरा डांस नहीं देखते होंगे। मैैं यह भी नहीं चाहती कि सांसद मुझसे माफी मांगें। हर किसी को मेरे प्रति अपनी सोच रखने का अधिकार है, लेकिन उन्होंने जो कहा, वह न तो अच्छा था और न ही मैैं अपने लिए खराब मानती हूं।

बात सिर्फ इतनी नहीं, सीधे सोनिया से जुड़ा सपना का मामला

सपना चौधरी गत सप्ताह सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मिलने के लिए दिल्ली में दस जनपथ गईं थी। हालांकि उनकी दोनों से मुलाकात नहीं हो सकी थी। बाद में सपना ने कहा था कि सोनिया गांधी से मेरे मिलने का कोई राजनीतिक मतलब नहीं है। सोनिया मुझे अच्छी लगती हैं, इसलिए मिलने आई थी। उन्होंने देश को बहुत कुछ दिया है। आने वाले चुनाव में मैैं हरियाणा या फिर देशभर में कांग्रेस के लिए प्रचार कर सकती हूं। बाद में उन्होंने एक दूसरे इंटरव्यू में यह भी जोड़ा कि यदि कोई दूसरा भी बुलाएगा तो मैैं उनके लिए भी प्रचार कर सकती हूं।

बिग बॉस फेम सपना चौधरी इसलिए आना चाहती हैैं राजनीति में

सपना चौधरी के राजनीति में आने के कयास लगाने के पीछे कई ठोस वजह है। सपना चौधरी पर गुरुग्र्राम में जब आपत्तिजनक रागिनी गाने पर मुकदमा दर्ज हुआ था, तब उनको कहीं से भी मदद नहीं मिली थी। सपना चौधरी कई पुलिस अधिकारियों से मिली मगर किसी ने मदद नहीं की। तब वे भारी डिप्रेशन में चली गई थी। इसके बाद उन्होंने राजनीति में आने का मन बनाया, ताकि जिन लोगों के पास वह मदद मांगने गई थी, एक दिन उन्हीं की तरह बन सकें।

विवाद बढ़ा तो सपना ने कहा राजनीति में नहीं मेरी कोई रुचि

सांसद अश्विनी चोपड़ा की टिप्पणी के बाद हालांकि सपना चौधरी ने स्पष्ट कर दिया कि वह राजनीति में आने का इरादा नहीं रखती। उन्होंने कहा कि मैैं राजनीति में आने का रास्ता नहीं तलाश रही। मैैं किसी भी राजनीतिक पार्टी में शामिल नहीं होने वाली और मुझे राजनीति में कोई रूचि नहीं है।

उन्होंने बोल दिया, मैैंने सुन लिया, इतना ही काफी

सपना ने सांसद को अपने लिए सम्मानित भी बताया, लेकिन साथ ही कहा कि वे बड़े समूह (जनता) का प्रतिनिधित्व करते हैैं इसलिए उन्हें किसी के भी बारे में सोच समझकर बोलना चाहिए। फिर भी उन्होंने मेरे बारे में यदि कुछ बोल भी दिया है तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता? किसी को बोलने से रोकना या समझाना मेरा काम नहीं है। मैैं लोगों का मनोरंजन करती हूं। कुछ नाम ऐसे होते हैैं, यदि हमें उन नामों से बुलाया जाए तो काफी तकलीफ होती है। मैैं बिल्कुल भी नहीं चाहूंगी कि सांसद मुझसे माफी मांगें। उन्होंने बोल दिया मैैंने सुन लिया, इतना ही काफी है।

कलाकार के प्रति टिप्पणी का मैैं समर्थक नहीं

वहीं, हरियाणा कांग्रेस प्रधान डॉ. अशोक तंवर का कहना है कि मुझे पता चला कि सपना चौधरी हमारे राष्ट्रीय नेताओं से मिलने गई हैैं। उनसे कोई भी मिल सकता है। अच्छी बात है। सपना चौधरी बेहतरीन कलाकार हैैं। उनके अथवा कांग्रेस के प्रति किसी तरह की टिप्पणी शोभा नहीं देती।

यह भी पढ़ेंः हरियाणा की राजनीति में लगेगा ग्‍लैमर का तड़का, डांसर सपना की कांग्रेस में ठुमके की तैयारी

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस